जलवायु संरक्षण के बारे में जागरूकता बढ़ाने हेतु भूमि ने दिया स्कूली विद्यार्थियों का साथ

0
201
Bhumi Pednekar story on Bolbolbollywood
Bhumi Pednekr story on bolbolbollywood

वर्सेटाइल यंग एक्ट्रेस भूमि पेडणेकर पर्यावरण को लेकर एक सचेत नागरिक हैं, जिन्होंने हमवतनों के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिए जलवायु संरक्षण को किसी ध्येय और अभियान की तरह हाथ में लिया है। भूमि ने एक बेहद सराहनीय ऑनलाइन और ऑफलाइन पहल ‘क्लाइमेट वारियर’ की शुरुआत की है, जिसके माध्यम से वह भारत के नागरिकों को पर्यावरण की सुरक्षा में अपना योगदान करने की दिशा में संगठित कर रही हैं। अब भूमि जलवायु संरक्षण के कार्य से जोड़ने के लिए स्कूली विद्यार्थियों के पास जा रही हैं, और उन्होंने एक प्रमुख वैश्विक संस्था ‘क्लाइमेट एक्शन प्रोजेक्ट’ के साथ अपना गठबंधन किया है, जिसकी पहुंच 107 देशों के 10 मिलियन से अधिक विद्यार्थियों तक है!

भूमि का कहना है, “जो बदलाव हम घटित होते देख रहे हैं वे वास्तविक हैं और इस बात से इंकार किया ही नहीं जा सकता कि ये हमारी समूची सभ्यता के लिए खतरा बन चुके हैं। मौजूदा साल में ही हम ऑस्ट्रेलियाई बुशफायर्स के साक्षी बने हैं, जिसमें 18 मिलियन हेक्टेयर भूमि स्वाहा हो गई! इसमें करीब एक बिलियन जानवर मारे गए और उस देश की कई दुर्लभ प्रजातियां निर्मूल कर दी गईं! हमने रूस के आर्कटिक क्षेत्र में तेल का भयंकर रिसाव देखा है, उत्तराखंड में 51 हेक्टेयर भूमि को खाक कर डालने वाला दावानल देखा है, हमने उड़ीसा और पश्चिम बंगाल में ‘अंपन’ नामक समुद्री तूफान झेला है, जो राज्य में 86 लोगों को निगलते हुए पश्चिम बंगाल पर हमला करने वाला पिछले एक दशक का सबसे शक्तिशाली तूफान साबित हुआ; और आखिर में, हमने कैलीफोर्निया की वाइल्डफायर्स को देखा, जहां कुल 3,154,107 एकड़ का क्षेत्र आग में भस्म हो गया।“

वह विद्यार्थियों से आगे आने का आवाहन करती हैं और वैश्विक स्तर पर जलवायु संरक्षण को लेकर अपनी आवाज बुलंद करने को कहती हैं। भूमि बताती हैं, “दुष्प्रभाव पहले ही दिखने लगा है और यदि हम तत्काल कदम नहीं उठाते तो इसके नतीजे विध्वंसकारी होंगे! यह सुनिश्चित करने के लिए कि हम वर्तमान और आगामी पीढ़ियों के लिए उम्मीद और समृद्धि को प्रचुर मात्रा में छोड़ जाएं, हम सबको इस दिशा में एक साथ मिलकर काम करने की जरूरत है। शिक्षा इस लक्ष्य को प्राप्त करने का अहम और बुनियादी रास्ता है। आओ कंधे से कंधा मिलाकर बदलाव लाएं!”

‘क्लाइमेट एक्शन प्रोजेक्ट’ की शुरुआत अक्तूबर 2020 में हुई थी। इसे 15 देशों की सरकारों का सहयोग एवं समर्थन प्राप्त है। यह प्रोजेक्ट निःशुल्क है, विद्यार्थी-केंद्रित है और शिक्षा के माध्यम से तौर-तरीकों में बदलाव लाना इसका लक्ष्य है। प्रोजेक्ट ने डब्ल्यूडब्ल्यूएफ और नासा के साथ अपना गठबंधन कर रखा है तथा यह प्रत्येक महाद्वीप के शिक्षकों को एक-दूसरे के साथ जुड़ने और बातचीत करने की सुविधा प्रदान करता है।