#HappyBirthdayTeenu : जब बिगबी के सितारे गर्दिश में थे तब टीनू आनंद के डायरेक्शन ने संभाला था करियर

#AmitabhBachchan #BigB

0
221

मुंबई। फिल्म जगत के बेहतरीन कलाकारों में शुमार टीनू आनंद आज किसी पहचान को मोहताज नहीं है। टीनू आनंद सिर्फ अभिनेता ही नहीं बल्कि अमिताभ बच्चन की कई फिल्मों के निर्देशक भी रह चुके हैं, जिनमें कालिया, शहंशाह, मै आजाद हूं, मेजर साब जैसी फिल्में शामिल हैं। टीनू आनंद और अमिताभ बच्चन की दोस्ती उस जमाने से है जिस दौर में अमिताभ के सितारे गर्दिश में चल रहे थे। उस समय टीनू आनंद के निर्देशन में ही अमिताभ की सुपरहिट फिल्म कालिया, शहंशाह और मेजर साहब बनी है।

यह है निजी जीवन
कलाकार टीनू आनन्द का जन्म 12 अक्टूबर 1945 को पेशावर पाकिस्तान में हुआ था। टीनू आनन्द लेखक इंदर राज आनंद के बेटे और फिल्म निर्माता बिट्टू आनंद के भाई और सिद्दार्थ आनंद के अंकल हैं।

पिता थे हिन्दी सिनेमा के मशहूर लेखक
टीनू के पिता हिंदी सिनेमा के लोकप्रिय और प्रख्यात लेखकों में से एक थे, लेकिन वह नहीं चाहते थे, कि उनके बेटे इस फिल्म इंडस्ट्री का हिस्सा बने। टीनू ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया, कि जब मैंने अपने पिताजी से कहा कि, मैं फिल्म निर्देशन की दुनिया में जाना चाहता हूं, तो वह बेहद हताश हुए, जब उन्होंने देखा की मैै कुछ और नहीं करना चाहता तो उन्होंने मेरी जिद के आगे घुटने टेक दिए और सत्यजित रे स्कूल में दाखिला दिला दिया। इसके बाद मेरा निर्देशन की दुनिया में दाखिला हुआ। बतौर फिल्म निर्देशक टीनू ने अपने करियर में कई फिल्मे निर्देशित की, जिनमे जीना तेरी गली में, ये इश्क नहीं आसान, सीमाबद्ध ,कालिया आदि शामिल हैं।

ऐसा है एक्टिंग करियर
टीनू को एक्टिंग करने का पहला मौका जलाल आघा से मिला, इस फिल्म में मुख्य भूमिका में सारिका, नसीरुद्दीन शाह और अमोल पालेकर मुख्य भूमिका में थे, फिल्म में लोगों को टीनू को किरदार बेहद पसंद आया और उन्हें क्रिटिक्स ने भी बेहद सराहा। बतौर एक्टर टीनू ने अपने करियर में कई फिल्में की, जिनमे पुष्पक, अग्निपथ, खिलाड़ी, चमत्कार, दिलजले, कभी ना कभी, सात रंग के सपने, अगली और पगली, दे दना दन, मासून, दामिनी, अंजाम जैसी फिल्में शामिल हैं।