अ सूटेबल बॉय: सिंगर कविता सेठ ने बताया कैसे मिला सीरीज में काम करने का Offer

0
402
Kavita-Seth
Kavita-Seth

मुंबई। वेब सीरीज अ सूटेबल बॉय चर्चा में बनी हुई है। ईशान खट्टर और तब्बू स्टारर ये वेब सीरीज 23 अक्टूबर को नेटफ्लिक्स पर स्ट्रीम होगी। इसे मीरा नायर ने डायरेक्ट किया है। सिंगर कविता सेठ ने इस सीरीज के गानों को कंपोज करने के साथ साथ गाया भी है।
कविता सेठ ने सीरीज के बारे कहा- जब मुझे मीरा नायर जी के आॅफिस से कॉल आया और उन्होंने मुझे बताया कि मीरा जी यूट्यूब पर मेरी म्यूजिकल सीरीज मैं कविता हूं को फॉलो करती हैं और वो मुझसे मिलना चाहती हैं। तो मैं वाकई शॉक्ड रह गई कि मीरा नायर जैसी बड़ी डायरेक्टर मुझे फॉलो करती हैं। ये तो वाकई मेरे लिए सम्मान की बात है फिर जब मैं उनसे मिली तो उन्होंने मुझे इस वेब सीरीज के सारे गाने गाने और कम्पोज करने का आॅफर दिया। तब मुझे एक चीज तो कंफर्म हो गई कि अगर आप सच्चे मन से और ईमानदारी से अपना काम करते हैं तो आपके काम की कद्र करने वाले आपको जरूर ढूढ़ लेंगे।

अ सूटेबल बॉय के गानों के बारे में बात करते हुए कविता सेठ कहती हैं- इस वेब सीरीज का सेटअप सन 1950 के दौर का है और हमने इसमें जो म्यूजिक दिया है उसे हमने लाइव रिकॉर्ड किया है और उन दिनों में जो वाद्य यंत्र इस्तेमाल किए जाते थे, उन्हीं वाद्य यंत्रों का इस्तेमाल हमने अपने गानों में किया है। सिर्फ इतना ही नहीं सिंगिंग के दौरान जब मेरे गले में कई बार कोई बाधा या दिक्कत आती तो मीरा नायर उसे भी एडिट नहीं करती थीं, उनके मुताबिक ऐसा करने से गानों में रियल जैसी फीलिंग आती है, इसके अलावा मीरा नायर जी ने मुझसे कहा था कि मैं सिंगिंग करते हुए अपने वीडियो एक्ट्रेस तब्बू से शेयर करूं और आपको ये जानकर हैरानी होगी कि तब्बू जी ने हूबहू मेरी नकल उतारी है तो जब आप वेब सीरीज देखेंगे तो आपको गानों में एकदम रियल सी फीलिंग आएगी।

कविता सेठ ने कहा- मेरा इंडस्ट्री में कभी कोई गॉडफादर नहीं रहा है, मैंने अपनी मेहनत और काम से लोगों का प्यार कमाया है, हर सिंगर का अपना एक मकसद होता है और मेरा मकसद कभी पैसे कमाने का नहीं रहा। मैं बस लोगों को अच्छा संगीत देना चाहती हूं और मुझे उसी से संतोष मिलता है, मैंने देखा है कि आजकल इंडस्ट्री में ज्यादातर सिंगर्स का यही रहता है कि किसी काम को ना नहीं करना है जो काम मिले बस कर लो, लेकिन मेरे साथ ऐसा नहीं है मैं वही काम हाथ में लेती हूं जिसमें मुझे संतोष और सुकून मिलता है।
कविता सेठ कहती हैं- पिछले काफी समय से मैंने फिल्में पाने के लिए नेटवर्किंग बंद कर दी हैं। अब मैं अपनी खुद की चीजों पर ज्यादा फोकस कर रही हूं। हां एक बात मैं जानती हूं कि मेरे नसीब में जो काम है वो मुझे मिलेगा ही, अगर कोई अच्छा गाना मेरे लायक होगा तो लोग खुद से मुझे अप्रोच कर ही लेंगे।