बॉलीवुड के ऑल राउंडर थे कादर खान, बिग बी को लेकर बनाना चाहते थे ‘जाहिल’

0
343
Kader Khan.j
Kader Khan.j

मुंबई। बॉलीवुड के सीनियर एक्टर कादर खान भले ही आज इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन उनके फैंस उनके कॉमेडी के दीवाने हैं। आज कादर खान की बर्थ एनिवर्सरी है। कादर खान की ज्यादातर कॉमेडी फिल्में की जिसने उन्हें एक अलग पहचान दिला दी। इसके अलावा वो अपनी खलनायक भुमिकाओं के लिए भी जाने जाते हैं। हालांकि एक वक्त ऐसा आया जब कादर को फिल्में मिलना बंद हो गई जिसका कारण अमिताभ बच्चन बने थे। कादर ने खुद इस बात का खुलासा किया था कि कैसे बिग बी को अमित जी ना कहने पर उन्हें फिल्मों से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

कादर खान की जोड़ी गोविंदा के साथ खूब जमी। लेकिन उन्होंने अपने करियर की शुरूआत में अमिताभ बच्चन, राजेश खन्ना जैसे कलाकारों के साथ काम किया था। ये वो दौर था जब कादर और अमिताभ दोस्त हुआ करते थे। यही कारण था कि कादर के लिए अमिताभ हमेशा से ही अमित थे। लेकिन बिग बी के स्टारडम बढ़ने के साथ लोग उन्हें अमित जी और सर जी जैसे नामों से बुलाने लगे थे। कादर ने एक बार वीडियो में बताया था कि मैं अमिताभ बच्चन को अमित कहकर ही बुलाता था जिसके कारण प्रोड्यूसर को मुझसे नाराजगी हो गई। वो कभी भी अमिताभ को अमित जी या सर जी नहीं बोल पाए जिसके कारण उ?्हें उस एक ग्रुप से निकाल दिया गया। कादर खान को फिल्में मिलना सिर्फ इसलिए बंद हो गई थी क्योंकि वो अमिताभ बच्चन को अमित जी नहीं कहते थे।

ख्वाहिश रह गई अधूरी
कादर खान ने अपनी एक्टिंग से लोगों के दिलों में खास जगह बनाई। उन्हें फिल्म इंडस्ट्री का आॅलराउंडर कहना गलत नहीं होगा। एक्टिंग के अलावा उन्होंने कई फिल्मों की स्क्रिप्ट लिखी। डायलॉग राइटिंग से लेकर निर्देशन तक का काम किया और सफल रहे। आज कादर खान की बर्थ एनिवर्सरी है। इस मौके पर उनकी एक अधूरी ख्वाहिश की बात करेंगे जो कभी पूरा नहीं हुआ और वह इस दुनिया को छोड़कर चले गए।

कादर खान और अमिताभ बच्चन की जोड़ी ने कई फिल्मों में काम किया। इसमें अदालत, सुहाग, मुकद्दर का सिकंदर, नसीब और कुली जैसी कामयाब फिल्में शामिल हैं। इसके अलावा कादर ने ‘अमर अकबर एंथनी’, ‘सत्ते पे सत्ता’ और ‘शराबी’ जैसी फिल्मों के डायलॉग भी लिखे, लेकिन वह अमिताभ बच्चन को लेकर एक फिल्म बनाना चाहते थे हालांकि उनकी यह तमन्ना कभी पूरी नहीं हो सकी।

बनाना चाहते थे फिल्म
कादर ने एक इंटरव्यू में बताया था कि मैं अमिताभ बच्चन, जया प्रदा और अमरीश पुरी को लेकर फिल्म जाहिल बनाना चाहता था। उसका डायरेक्शन भी मैं खुद करना चाहता था, लेकिन खुदा को शायद कुछ और ही मंजूर था। फिल्म कुली की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन को चोट लग गई और फिर वह महीनों अस्पताल में भर्ती रहे।’उन्होंने आगे बताया कि अमिताभ बच्चन के अस्पताल से ठीक होकर वापस आने के बाद मैं अपनी दूसरी फिल्मों में बहुत ज्यादा व्यस्त हो गया और उधर अमिताभ बच्चन राजनीति में आ गए। इस तरह कादर खान और अमिताभ बच्चन की यह फिल्म हमेशा के लिए डिब्बाबंद हो गई।