Manushi Chhillar : बच्चों और एज्यूकेशन के क्षेत्र में काम करने हेतु समर्पित करना चाहती हूँ अपनी लाइफ

0
431
Manushi Chhillar
Manushi Chhillar

मुंबई |Manushi Chhillar जो मासिक धर्म के बारे में जागरूकता बढ़ाने का लक्ष्य लेकर चल रही एक गैर-लाभकारी पहल ‘प्रोजेक्ट शक्ति’ की पहले से अगुवाई कर रही हैं|

अलौकिक सुंदरी मानुषी छिल्लर सुंदरता और बुद्धिमानी के तालमेल का एक परफेक्ट उदाहरण हैं। हमेशा सामाजिक मुद्दों पर अपने विचार व्यक्त किए हैं और वह सामाजिक मुद्दों पर अपना स्टैंड लेने वाली एक ओपीनियन लीडर भी हैं।

साल 2017 में मिस वर्ल्ड का खिताब जीतने के फौरन बाद उन्होंने एक नॉन-प्रॉफिट संगठन ‘प्रोजेक्ट शक्ति’ की संकल्पना और अगुवाई शुरू कर दी थी, जिसका लक्ष्य भारत में महिलाओं की मेन्स्ट्रुअल हाईजीन में सुधार लाना है। यह गॉर्जस डेब्यूटांट इस बात को लेकर बहुत क्लियर है कि निकट भविष्य में वह बच्चों और एज्यूकेशन से जुड़े मुद्दों को लेकर जागरूकता बढ़ाने में हाथ बंटाना चाहती है।

मानुषी का कहना है, “मेरे मिस वर्ल्ड के सफर ने लाइफ, सोसाइटी और खासकर मानवता के बारे में मेरी आंखें खोल कर रख दीं! मैंने हर पल को संजो कर रखा है क्योंकि मुझे दुनिया भर में सबसे असाधारण लोगों से मिलने का मौका मिला है और उनसे मैंने सेल्फ-बिलीफ, सेल्फ-रिलायंस तथा सर्वाइवल की दिलकश दास्तानें सुनी हैं। इन सबसे मिली सीख ने एक मनुष्य के रूप में मुझको गढ़ा है और मैं समाज की भलाई के लिए लगातार अपनी कोशिशें जारी रखना चाहती हूं।“

वाईआरएफ की फिल्म ‘पृथ्वीराज’ से अक्षय कुमार के अपोजिट बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रहीं मानुषी आगे कहती हैं, “एक एक्टर के रूप में हासिल अपनी इक्विटी का इस्तेमाल मैं ज्यादा से ज्यादा मुद्दे उठाने में करना चाहती हूं तथा अपनी लाइफ को बच्चों और एज्यूकेशन के क्षेत्र की दिशा में काम करने वाली पहलों पर ध्यान देने के लिए समर्पित करना चाहती हूं। आने वाली जनरेशन को प्रोटेक्ट करने का हमारा तरीका ही इस संसार के भविष्य की बुनियाद रखेगा।“

यह डेब्यूटांट ब्यूटी अपने ‘प्रोजेक्ट शक्ति’ के कार्यक्षेत्र का दायरा बढ़ाने की योजनाओं का खुलासा भी कर रही है। वह बताती हैं, “मैं ‘प्रोजेक्ट शक्ति’ को लेकर पहले ही सक्रिय रूप से काम कर रही हूं। मैं इसका विस्तार करने और भारत के नए-नए शहरों की ज्यादा से ज्यादा महिलाओं तक इसकी पहुंच बनाने की इच्छुक हूं। हमने 2020 के लिए विस्तृत योजनाएं बना रखी थीं लेकिन कोरोना वायरस महामारी के चलते हमें इन पर विचार-विमर्श स्थगित करना पड़ा। मैं इन योजनाओं को शुरू करने की उत्सुक हूं, साथ ही साथ भारत में मेन्स्ट्रुअल हाईजीन को लेकर ज्यादा से ज्यादा जागरूकता पैदा करने के लिए तत्पर हूं। यह एक ऐसा नेक कार्य है, जिसके साथ मैं गहराई से जुड़ी हुई हूं।“

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए मानुषी कहती हैं, “मेरे मिस वर्ल्ड के कार्यकाल ने मुझे दिखाया और समझाया है कि हमें एक सोसाइटी, एक इंडिविजुअल के तौर पर लगातार दूसरों को मदद पहुंचाने की कोशिश करनी चाहिए, क्योंकि जरूरतमंतों की तादाद बहुत ज्यादा है। मुझे इस बात का अहसास है कि अपनी अगली पीढ़ी के प्रति हमारी एक सामूहिक जिम्मेदारी बनती है और अगर हमने उन पर ध्यान नहीं दिया तो हम एक गंभीर संकट को न्यौता देने जा रहे हैं।“