Netflix पर 11 दिसंबर को रिलीज होगी Sanjay Dutt की फिल्म Torbaaz

0
430
Torbaaz
Torbaaz

मुंबई। अभिनेता संजय दत्त की फिल्म टोरबाज 11 दिसंबर को नेटफ्लिक्स पर रिलीज होने जा रही हैं। संजय दत्त, राहुल देव और नरगिस फाखरी की मुख्य भूमिकाओं से सजी फिल्म ‘टोरबाज़’ गिरीश मलिक द्वारा निर्देशित और राजू चड्ढा और राहुल मित्रा द्वारा निर्मित है।

टोरबाज’ में अफ़गान सेना के जनरल की अहम भूमिका निभा रहे निर्माता राहुल मित्रा ने कहा कि टोरबाज’ एक बहुत ही ख़ास फ़िल्म है और मुझे इस बात का इल्म है कि नेटफ्लिक्स पर जल्द ही हमारी इस प्यारी फिल्म का इज़हार होने वाला है।

बता दें कि ये एक ऐसे शख्स की कहानी है, जो अपने दुखो से ऊपर उठकर और खुद कुछ करने की ठान लेता है। वो रिफ्यूजी कैंप के बच्चों को क्रिकेट में ट्रेनिंग देने के लिए कड़ी मेहनत करता है, जिन्हें वैसे आत्मघाती हमलावर बनाया जाता है। अब फिल्म में देखना होगा कि क्रिकेट कोच यानी संजू बाबा बच्चों को इस दलदल से निकाल पाते हैं या नहीं। वैसे इस फिल्म में राहुल देव भी नज़र आने वाले हैं। राहुल देव का फिल्म में अच्छा- खासा रोल है। ट्रेलर में उनकी एक्टिंग को भी काफी पसंद किया जा रहा है। 

21 नवंबर को इसका ट्रेलर रिलीज किया गया था। ट्रेलर के शुरुआत में संजय दत्त बताते हैं कि वो रिफ्यूजी कैंप में बच्चों के लिए क्रिकेट कैंप खोलना चाहते हैं। अब ये रिफ्यूजी कैंप कहां है? तो इसका जवाब है अफगानिस्तान। फिल्म में संजय दत्त एक एक्स आर्मी डॉक्टर का किरदार निभा रहे हैं, जिसने अपनी पत्नी और बेटे को आतंकी हमले में खो दिया। अपने दर्द को अपना मोटिवेशन बना अब वो इन बच्चों की ज़िंदगी में खुशी भरना चाहता है। क्रिकेट के जरिए। पर सुनने में आसान लगने वाला ये काम, वास्तव में मुश्किल बन जाता है।

और इसका कारण बनते हैं राहुल देव, जो एक आतंकी संगठन के लीडर बने हैं। ये आतंकी चाहता है कि बच्चों को एक ही मिशन पर लगे रहना चाहिए। सुसाइड बॉम्बर बनने के मिशन पर।

संजय दत्त का किरदार रिफ्यूजी बच्चों को क्रिकेट के जरिए नई दिशा देना चाहता है। ये आतंकी वहां की अमेरिकन आर्मी से बदल लेना चाहता है। बच्चों को सुसाइड बॉम्बर बना, अपने मकसद के लिए शहीद करना चाहता है। वहीं दत्त का किरदार बच्चों से घुलता-मिलता है, उन्हें क्रिकेट खेलने के लिए मनाता है। उसे वहां के लोकल लोगों से भी मदद मिलती है, पर सबसे बड़ी अटकल है वहां सक्रिय टेररिस्ट ग्रुप्स।

ट्रेलर के एक हिस्से में दत्त को बच्चों की फौज के साथ दिखाया गया है, हाथों में बल्ले लिए। वहीं राहुल देव को आतंकियों के साथ, हाथों में बंदूकें लिए। इन दो इरादों में जीत किसकी होती है, ये देखना मजेदार होगा।