याचिका खारिज होने पर बोली Kangna Ranaut, ‘हम उच्च न्यायालय में लड़ेंगे’

0
316
Kangana Ranaut
Kangana Ranaut

मुंबई। अभिनेत्री कंगना रनौत ने शनिवार को सुबह ट्वीट किया है। इसमें उन्होंने लिखा है कि, ‘ये महाविनाशकारी सरकार का फेक प्रोपेगैंडा है। मैंने कोई फ्लैट आपस में नहीं जोड़े हैं। पूरी बिल्डिंग इसी तरह बनी हुई है।’ इसी ट्वीट में कंगना ने आगे लिखा है कि, ‘हर फ्लोर पर एक अपार्टमेंट है। मैंने ऐसे ही ये फ्लैट खरीदा था। बीएमसी मुझे पूरी बिल्डिंग में प्रताड़ित कर रही है। हम उच्च न्यायालय में लड़ेंगे।’ दरअसल, मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर से किए जाने के बाद से कंगना लगातार विवादों में रही है। वह इसके बाद से ही उद्धव ठाकरे सरकार के खिलाफ लगातार हमलावर रहीं है। अब फ्लैट्स में अनाधिकृत निर्माण गिराए जाने को रोकने के लिए दायर की गई कंगना की याचिका को कोर्ट ने खारिज कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि एक्ट्रेस कंगना रनौत ने नियमों का उल्लंघन कर तीन फ्लैट्स का आपस में मर्जर कर लिया।

मामले की सुनवाई करते हुए जज एल एस चव्हाण ने आदेश में कहा, कंगना रनौत ने शहर के खार इलाके में 16 मंजिला इमारत की पांचवीं मंजिल पर अपने तीन फ्लैट्स को मिला लिया था। ऐसा करते हुए उन्होंने संक एरिया, डक्ट एरिया और आम रास्ते को कवर कर दिया। ये स्वीकृत योजना का गंभीर उल्लंघन है, जिसके लिए सक्षम प्राधिकार की मंजूरी जरूरी है।
बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने मार्च 2018 में अभिनेत्री को उनके खार के फ्लैटों में अनधिकृत निर्माण कार्य के लिए नोटिस जारी किया था, लेकिन उसके बाद से मामला ठंडा पड़ा हुआ था। इसके अलावा भी बीएमसी की टीम अनधिकृत निर्माण के आरोप में कंगना रनौत के आॅफिस में तोड़फोड़ कर चुकी है। इसके खिलाफ कंगना ने हाई कोर्ट ने तोड़फोड़ को गलत बताते हुए बीएमसी को को फटकार लगाई थी। तब लगा था कि यह मामला ठंडा पड़ गया है। लेकिन अब कंगना की बयानबाजी से दिखाई दे रहा है कि मामला एक बार फिर जोर पकड़ेगा।