कॉमेडियन Kapil Sharma से जुड़े ‘जालसाजी’ के तार, Crime Branch ने पूछताछ के लिए बुलाया

0
277
Kapil Sharma
Kapil Sharma

मुंबई। मुंबई पुलिस द्वारा जब्त की गई फेक रजिस्टर्ड कार के बारे में कॉमेडियन कपिल शर्मा से पूछताछ की गई है। उन्हें यह बुलावा क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट एपीआई सचिन वेज द्वारा पूछताछ के लिए बुलाया गया था। जानकारी के मुताबिक कपिल शर्मा ने मुंबई क्राइम ब्रांच (Crime Branch) आॅफिस पहुंचकर अपना बयान दर्ज कराया है। कपिल ने अपनी वैनिटी वैन के लिए कार डिजाइनर दिलीप छाबड़िया को पैसे दिए थे। लेकिन बाद में पुलिस में मामला दर्ज करवाया क्योंकि छाबड़िया को काम नहीं मिला। छाबड़िया को फर्जी पंजीकरण के लिए बुक किया गया है। पुलिस ने कपिल को पहले की शिकायत के बारे में जानकारी और बयान दर्ज करने के लिए बुलाया था। अब उन्हें गवाह के रूप में अपना बयान दर्ज करने के लिए बुलाया गया है।

छाबड़िया पर धोखाधड़ी और जालसाजी का आरोप
एक मीडिया रिपोर्ट (Media Reports) में बताया गया है कि 28 दिसंबर 2020 को दिलीप छाबड़िया को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। वे डीसी डिजाइन के संस्थापक और मशहूर कार डिजाइनर है। छाबड़िया के पास से एक गाड़ी भी जब्त हुई थी। आपको बता दें कि कथित तौर वे कार फाइनेंस और फेक रजिस्ट्रेशन रैकेट से जुड़े हुए थे। छाबड़िया पर धोखाधड़ी और जालसाजी का आरोप है। इसके बाद उनके खिलाफ India penal code की धारा 420, 465, 467, 468, 471, 120 (बी) और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल दिलीप छाबड़िया पुलिस कस्टडी में हैं और गुरुवार को उनकी कस्टडी समाप्त हो रही थी।

कई आरोपों में गिरफ्तार किया गया
छाबड़िया पर आरोप है कि वो अपनी बनाई कारों को खुद ग्राहक बनकर खरीदते थे और उन कारों पर लोन भी लेते थे। छाबड़िया को धोखाधड़ी और जालसाजी समेत कई आरोपों में गिरफ्तार किया गया है। उन्हें मंगलवार को मुंबई की किला कोर्ट में पेश किया गया, जहां से 2 जनवरी तक क्राइम ब्रांच की कस्टडी में भेज दिया है।