कंगना को राजद्रोह मामले में बॉम्बे हाई कोर्ट से मिली राहत, 25 जनवरी तक नहीं हो सकेगी गिरफ्तारी

0
348
Kangna Rangoli
fir registered against kangana ranaut and her-sister rangoli chandel

मुंबई। मध्यप्रदेश में फिल्म धाकड़ की शूटिंग में व्यस्त बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को राजद्रोह के केस में बॉम्बे हाईकोर्ट से एक बार फिर राहत मिल गई है। कोर्ट ने कंगना रनौत को गिरफ्तारी से मिली अंतरिम राहत की अवधि को 25 जनवरी 2021 तक बढ़ा दिया है। इससे पहले बीते साल नवंबर में हुई इस मामले की सुनवाई के दौरान मुंबई के बांद्रा पुलिस स्टेशन में दर्ज प्राथमिकी के खिलाफ कोर्ट ने कंगना को गिरफ्तारी से राहत दी थी।

गौरतलब है कि कंगना रनौत और उनकी बहन रंगोली चंदेल को सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने, सांप्रदायिक तनाव भड़काने के के आरोप में पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज  की थी। कंगना ने इस एफआईआर के खिलाफ याचिका दायर की थी और कोर्ट से इसे रद्द करने की मांग की थी।

दरसअल, कंगना और उनकी बहन रंगोली  के खिलाफ एफआईआर सोशल मीडिया पर किए गए एक पोस्ट को लेकर की गई थी। उन पर सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए समाज में नफरत और सांप्रदायिक तनाव पैदा करने का आरोप लगाया गया था। इसके बाद उन पर आपत्तिजनक भाषा के इस्तेमाल के लिए कार्यवाही की मांग की गई थी। आपको बता दें कि हाल ही में बांद्रा पुलिस स्टेशन में हाजिरी देने पहुंचीं कंगना ने कई सवाल उठाकर प्रताड़ना का आरोप भी लगाया था।

यह सब विवाद बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत बाद से गरमाया था। कंगना ने सुशांत के केस में मुंबई पुलिस की जांच पर सवाल उठाए थे। यहां तक कि मुंबई की तुलना पीओके से भी कर डाली थी, जिसके बाद उनपर सांप्रदायिक तनाव भड़काने के तहत एफआईआर दर्ज हुई थी। साथ ही उन्होंने मुम्बई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर से कर दी थी।