रामगोपाल वर्मा ने कर्मचारियों की सवा करोड़ रुपए सैलरी नहीं दी, लीगल नोटिस का भी नहीं दिया जवाब

0
363
Ram Gopal Verma
Ram Gopal Verma

मुंबई। सत्या, कंपनी, आग, रंगीला, सरकार, ब्यूटीफुल, वीरप्पन, भूत और 26/11 जैसी फिल्मों के डायरेक्शन के लिए जाने जाने वाले फिल्म डायरेक्टर रामगोपाल वर्मा पर चौकाने वाले आरोप लगे हैं। एक मीडिया रिपोर्ट में कर्मचारियों के संगठनों के हवाले से दावा किया गया हैं कि उन्होंने कर्मचारियों की 1.25 करोड़ रुपए की सैलरी नहीं दी है। इसके एवज में फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लॉयीज ने रामगोपाल वर्मा को बैन करने का फैसला लिया है। इससे सिने कर्मचारियों की 32 यूनियनों से जुड़े लोग रामगोपाल वर्मा के साथ भविष्य में काम नहीं करेंगे। फेडरेशन के अध्यक्ष बीएन तिवारी ने कहा और महासचिव अशोक दुबे के मुताबिक के मुताबिक इससे पहले रामगोपाल वर्मा को एक लीगल नोटिस भी भेजा गया था। इस लीगल नोटिस पर कोई जवाब नहीं दिया गया था। हालांकि रामगोपाल वर्मा ने लेटर्स मिलने की बात से ही इनकार कर दिया।

इस पूरे मामले में रामगोपाल वर्मा ने फिलहाल अपनी चुप्पी साध रखी हैं। फेडरेशन के मुताबिक रामगोपाल वर्मा को साढ़े 3 साल पहले सितंबर 2017 में एक लेटर भेजा गया था। इसमें लिखा था कि टेक्नीशियंस की तनख्वाह बाकी है, जिसे दिया जाना चाहिए। इसके बाद भी फेडरेशन की ओर से लगातार कई पत्र रामगोपाल वर्मा को पेमेंट क्लियर करने के लिए भेजे गए थे। यही नहीं फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एंप्लॉयीज ने रामगोपाल वर्मा पर कोरोना काल में भी शूटिंग जारी रखने का आरोप लगाया है।

तिवारी ने कहा कि रामगोपाल वर्मा के गोवा में शूटिंग करने की जानकारी मिलने के बाद वहां के सीएम को भी इस संबंध में पत्र लिखा गया था। उन्होंने कहा कि हमारी ओर से सीएम अरविंद सावंत को 10 सितंबर, 2020 को पत्र लिखा गया था। हम चाहते हैं कि गरीब टेक्नीशियंस, आर्टिस्ट्स और वर्कर्स को उनका मेहनताना मिल जाए। लेकिन रामगोपाल वर्मा ने मांगों को अनसुना कर दिया। ऐसे में अब हमने उनके साथ भविष्य में काम न करने का फैसला लिया है। ऐसे में यह सवाल उठाये का रहे हैं कि  जब कोरोना काल में हर कोई कमर्चारियों को बिना काम के सैलरी दे रहा था तो ऐसे में रामगोपाल वर्मा का यह रवैया चौंकाता हैं।