अवैध निर्माण मामले में सोनू सूद को झटका, याचिका खारिज

0
291
Sonu Sood
Sonu Sood

मुंबई। अवैध निर्माण मामले में घिरे अभिनेता सोनू सूद की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। दरअसल, बॉम्बे हाई कोर्ट ने सोनू सूद (Sonu Sood) को कोई भी राहत से मना कर दिया है। सोनू सूद की याचिका को खारिज करते हुए जस्टिस पृथ्वीराज चव्हाण ने कहा, ’‛बॉल अब बीएमसी के पाले में है। सुनवाई के दौरान सोनू सूद के वकील अमोघ सिंह ने दलील रखी कि बीएमसी द्वारा भेजे गए नोटिस में ये जिक्र नहीं किया गया है कि किस फ्लोर पर अवैध निर्माण किया गया है, कोई डाइमेंशन मेंशन नहीं किया गया है। वो इमारत वहां पर साल 1992 से मौजूद है। वो पूरी इमारत को नहीं गिरा सकते हैं। उन्होंने ये जिक्र नहीं किया है कि इसमें क्या है जो अवैध है और इसीलिए हमने ये दलील रखी है कि ये नोटिस आवेग में दिया गया है। हमारा कहना है कि नोटिस बहुत स्पेसिफिक होना चाहिए। ताकि हम जान सकें कि किस तरह कदम उठाना है।

दरअसल, सोनू सूद के अधिवक्ता अमोघ सिंह ने बीएमसी के आदेश से इतर कोर्ट से कम से कम 10 दिन का समय मांगा था जिसके बारे में जस्टिस चव्हाण ने कहा, ‛आप बहुत लेट हैं। आपके पास इसके लिए पर्याप्त अवसर था। कानून उनकी मदद करता है जो मेहनती हैं।’ सोनू और उनकी पत्नी सोनाली ने इस मामले में बॉम्बे हाई कोर्ट का रुख किया था जिसके बाद दिनदोशी सिविल कोर्ट ने उनकी राहत याचिका को खारिज कर दिया है। कोर्ट द्वारा सुनाए गए फैसले की विस्तृत कॉपी बाद में जारी की जाएगी लेकिन तब तक हम यहां आपको बता रहे हैं कि कोर्ट में क्या बहस हुई।

आपको बता दें कि इसी तरह के एक मामले में अभिनेत्री कंगना रनौत भी घिरी हुई हैं। हालांकि उन्हें कोर्ट से राहत मिल गई और बकायदा मुआवजा के भी आदेश दिए गए।