Madhubala Birth Anniversary : ऐसे मुमताज़ से बनी थी मधुबाला, आज भी अदाओं का कायल है ज़माना

0
208
Madhubala
Madhubala

BolBolBollywood Special मुंबई | खूबसूरती का पर्याय मधुबाला जिनकी अदाकारी का आज भी ज़माना कायल है ,का जन्म 14 फरवरी 1933 को हुआ था | भारतीय सिनेमा जगत में आज तक मधुबाला जितनी खूबसूरत अदाकारा नहीं हुई |ना केवल अपनी खूबसूरती बल्कि अपनी अदाकारी से भी उन्होंने लोगों को अपना कायल बना लिया था |उन्होंने इस इंडस्ट्री को कई बेहतरीन फिल्में दी |

मधुबाला जिनका नाम आज हर दिल में बसा हुआ है एक गरीब घर में पैदा हुई थी|जन्म के बाद मधुबाला का पूरा नाम मुमताज़ बेग़म जहाँ देहलवी रखा गया और उन्होंने चॉकलेट, गुड़िया-गुड्डे तथा झूले, लोरियां ,कहानियों से कोसों दूर संघर्षमय जीवन बिताया |

उनका नाम मुमताज़ से मधुबाला पड़ने के पीछे भी एक दिलचस्प कहानी है |जब उनके पिता उन्हें मुंबई ले गए तो तो बाम्बे टाकीज में उस जमाने की सफल अभिनेत्री मुमताज शांति की नजर बच्ची मुमताज पर पड़ी। फिर उनकी जिंदगी बदल गयी और उन्हें बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट अपनी पहली फिल्म बसंत मिली |

9 वर्ष की उम्र में अदाकारी की शुरुवात मुमताज के सफल कैरियर की शुरुवात थी और फिर उनकी मुलाक़ात देविका रानी से हुई |वह मुमताज़ की हंसी देखकर उस पर फ़िदा हो गयी और बोली “आज से तुम्हारा नाम मधुबाला होगा “,तो इस तरह मधु मुमताज़ से बन गयी मधुबाला |

उसके बाद तो जैसे अपनी अंतिम सांस तक वह कभी थमी ही नहीं |1947 में केदार शर्मा की नीलकमल में मधुबाला ने बतौर हिरोइन काम किया उनके हीरो थे राजकपूर| फिल्म तो ज्यादा नहीं चली ,मगर मधुबाला की चर्चा हर जगह होने लगी| फिर कमाल अमरोही ने महल फिल्म में मधुबालाा को हिरोइन बनाया और इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा दिया। फिल्म का गाना, “आयेगा आने वाला” सबके जेहन में छा गया | फिल्म इंडस्ट्रीज में कहा जाता है कि, मधुबालाा लता जी और आशा जी के लिये लकी थीं। 1949 में महल फिल्म में मधुबालाा पर फिल्माया आयेगा आने वाला गीत ने लता मंगेशकर को बुलंदियो पर पहुँचा दिया था।

जहाँ एक और इंडस्ट्री में उन्होंने शोहरत हासिल की वहीं दर्द से भी उनका गहरा रिश्ता रहा और वह कई बीमारियों का शिकार हो गयी और फिर 36 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया |इस बीच कई लोगों से उनका नाम जुडा और दिलीप कुमार संग उनका रिश्ता तो प्यार की एक खूबसूरत दास्ताँ बनकर रह गया|वैसे तो उन्होंने किशोर कुमार से शादी भी की मगर यह जोड़ी बेमेल ही रही|

मधुबालाा ने 70 से अधिक फिल्मों में काम किया,जिसमे बसंत, मुमताज महल, राजपूतानी, नील कमल, पारस, दुलारी, महल, परदेस, हंसते आंसू, मधुबालाा, तराना, बादल, मि. एंड मिसेज 55, राज हठ, गेटवे ऑफ इंडिया, फगुन, काला पानी, हावड़ा ब्रिज, चलती का नाम गाड़ी, दो उस्ताद, जाली नोट, बरसात की रात, मुगल ए आज़म, पासपोर्ट, झुमरु, हाफ टिकट, शराबी, ज्वाला जैसी बेहतरीन फिल्में शामिल हैं |

ना केवल फिल्में बल्कि उन्होंने हमे कुछ आइकोनिक सांग भी दिए ,जिसमे जब प्यार किया तो डरना क्या…..मोहे पनघट पर नंदलाल छेड़ गयो रे….आयेगा आने वाला……एक लड़की भीगी भागी सी सोती रातों में जागी सी……हाल कैसा है ज़नाब का…..इक परदेशी मेरा दिल ले गया…..मेरा नाम चिन चिन…..मोहब्बत की झूठी कहानी … जैसे बेमिसाल गीत शामिल हैं |

मधुबाला आज भले ही हम सबके बीच में नही हैं ,मगर वह अपनी अदाकारी और हंसी के जरिये हमेशा लोगों के दिलों में अमर है |