सुशांत सिंह राजपूत की ‘एम एस धोनी’ के सह-कलाकार Sandeep Nahar की आत्महत्या से मौत; फेसबुक पर शेयर किया नोट

0
200
Sandeep Nahar
Sandeep Nahar

मुंबई | सुशांत सिंह राजपूत अभिनीत फिल्म ‘एम एस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ और अक्षय कुमार की फिल्म ‘केसरी’ में काम कर चुके अभिनेता Sandeep Nahar ने अपने फेसबुक पर एक वीडियो के साथ एक वीडियो पोस्ट किया। नोट में उसने कहा कि वह आत्महत्या करके मरने वाले थे। उन्होंने यह भी जोड़ा कि उनके इस कदम के लिए उनके परिवार से किसी को भी जिम्मेदार नहीं बनाया जाना चाहिए।

अभिनेता ने कहा कि वह व्यक्तिगत के साथ-साथ पेशेवर तौर पर भी बहुत सारी समस्याओं से गुजर रहे हैं, ।

उन्होंने लिखा, “#Suicide # नोट ‘अब जीने की इच्छा नहीं हो रही है| लाइफ में काफी सुख दुख देखे | हर प्रॉब्लम को फेस किया बट आज मैं जिस ट्रोमा से गुजर रहा हूं, वो बर्दास्त के बाहर है| मैं जानता हूँ कि सुसाइड करना कायरता है |मुझे भी जीना था, लेकिन ऐसे जीने का भी क्या फायदा.. जिसमे सुकून और सेल्फ रिस्पेक्ट न हो… मेरी पत्नी कंचन शर्मा और उसकी मम्मी विनू शर्मा, जिन्होंने ना मुझे समझा ना समझने की कोशिश की| मेरी वाइफ हाइपर नेचर की है ,उसकी पर्सनैलिटी अलग है और मेरी अलग, जो बिलकुल भी मैच नहीं करती | हर रोज के कलेस.. सुबह शाम बस कलेस… मेरी अब ये सहने की शक्ति नहीं है|”

उन्होंने लिखा कि ‘इसमें कंचन की कोई गलती नहीं है, क्योंकि उसकी नेचर ऐसी है, उसे सब नॉर्मल लगता है, लेकिन मेरे लिए ये अब नॉर्मल नहीं है| मैं मुंबई में कई सालों से हूँ .. बहुत बुरा टाइम भी देखा, लेकिन कभी टूटा नहीं| बाउंसर रहा, डबिंग की, जिम, ट्रेनर रहा. एक रूम किचन में 6 लोग रहकर स्ट्रगल करते थे, लेकिन सुकून था| आज मैंने काफी कुछ अचीव किया है, लेकिन आज शादी के बाद सुकून नहीं है| दो साल से लाइफ बिलकुल चेंज हो गई है और ये बातें मैं कभी किसी से शेयर भी नहीं कर सकता| दुनिया को लगता है उनका कितना अच्छा चल रहा है, क्योंकि वो सब हमारे सोशल पोस्ट या स्टोरी देखते हैं, जो कि सब झूठ होती है, इसके कहने पर डालता हूँ |”

उन्होंने लिखा कि ” यह मैं बहुत पहले कर लेता ,पर मैंने खुद को टाइम दिया ,सोचा चीज़े बदल जायेंगी | कंचन 2 साल में 100 से ज्यादा बार सुसाइड कर लूंगी के बारे में बोलती रहती है, तु्म्हें फंसा दूंगी देखो आज नौबत ये आ गया है कि मुझे ये स्टेप उठाना पड़ रहा है| पास्ट को लेकर लड़ती है, मेरी इज्जत नहीं करती, मुझे गालियां देती है | मेरी फैमिली के बारे में रोज बुरा बोलती है, जो मेरे लिए सुनना अब सहन शक्ति से बाहर है| इसमें इसकी कोई गलती नहीं है, क्योंकि ये दिमाग से बीमार है| मैं चाहता हूं मेरे जाने के बाद इसको को कुछ न कहे, क्योंकि कभी अपनी गलती का एहसास नहीं होगा| बस इसका इलाज करवा दो, ताकि मेरे जाने के बाद इसकी लाइफ में ये खुशियां देंखे और मेरी फैमिली को मेरे जाने के बाद कोई प्रॉब्लम न दे|