किसान परिवार के बच्चों के लिए विवेक ओबेरॉय ने किया 16 करोड़ की छात्रवृत्ति का ऐलान

0
118
Vivek Anand Oberoi

मुम्बई। अभिनेता विवेक आनंद ओबेरॉय (Vivek Anand Oberoi) ने कैंसर रोगियों की सहायता के लिए कैंसर पेशेंट एड एसोसिएशन से 18 साल पहले साथ हाथ मिलाया था। तब से अब तक उन्होंने ग्रामीण भारत के किसान परिवारों से जुड़े 250000 से अधिक बच्चे जो कैंसर जैस्ी घातक बीमारी से जूझ रहे है उनकी निस्वार्थ और निरंतर मदद की है। इस कारवां को आगे बढ़ाते हुए अब उन्होंने एक अभियान शुरू किया है। जिसके तहत 16 करोड़ रुपए की शैक्षिक छात्रवृत्ति से योग्य छात्रों को दी जाएगी। इस कार्यक्रम के सबसे बड़े लाभार्थी ग्रामीण भारत में किसानों के बच्चे होंगे। छात्रवृत्ति गांवों में रहने वाले देश के बच्चे को जेईई और नीट को क्रैक करने के सपने देखने में मदद करेगी।

छात्रवृत्ति कार्यक्रम के बारे में बात करते हुए विवेक ओबेरॉय कहते हैं कि, ‘एक गांव का हर बच्चा जो आगे बढ़ता है, उससे न केवल उसका परिवार बल्कि उसका पूरा गांव उसके साथ आगे बढ़ता है। हमारे आस-पास बहुत सारे गुणवान और प्रतिभाशाली युवा विद्यार्थी है जो महंगी शिक्षा को वहन नहीं कर पाते हैं और वे कोचिंग नहीं ले पाते हैं। वे खराब आर्थिक स्थिति की वजह से कोचिंग नहीं जा पाते हैं। मैं नहीं चाहता था कि इस तरह के मेधावी छात्रों को इस वजह से उपेक्षित किया जाए कि वे किसी विशेष क्षेत्र से आते हैं। मेरी टीम और मैंने उनके सपनों को हासिल करने में मदद करने के लिए यह पहल की है ताकि वे वहां जाकर अपना करियर बना सकें।’

आई-30 प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत यह छात्रवृत्ति कार्यक्रम लॉन्च किया गया है। इसे गणितज्ञ आनंद कुमार के सुपर 30 कार्यक्रम के डिजिटलीकरण के तहत शुरू किया गया है। यह ग्रामीण भारत में बच्चों को पढ़ाने के लिए उच्च-गुणवत्ता और प्रगतिशील मॉड्यूल का उपयोग करता है। आई-30 के तहत 90 से अधिक वर्चुअल लर्निंग सेंटर छोटे शहरों में शुरू किए गए हैं ताकि आईआईटी के उम्मीदवारों और मेडिकल छात्रों की शहरों में कक्षाओं तक पहुंच हो सके और इसलिए कम दरों पर पर जेईई और नीट की तैयारी करें। सब जानते हैं देने की भावना आनंद कुमार के डीएनए में है और आई-30 को उसी भावना से जारी रखा जा रहा है।