जब पिता ने की थप्पड़ मारने की कोशिश, हाथ पकड़कर कंगना बोलीं, ‘मैं भी मार दूंगी’… ऐसे बनी पहली बागी

0
123
Kangana Ranaut and His fathers

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) ने शनिवार सुबह एक के बाद एक कई ट्वीट कर बगाबती तेवरों का राज खोला है। उन्होंने अपने पापा से जुड़े एक किस्से को शेयर करते हुए बताया है कि कैसे वह शुरू से ही बागी तेवर वाली रही है।

कंगना ने अपना पापा की तस्वीर शेयर करते हुए पहले ट्वीट में लिखा है कि, ‘मेरे पापा मुझे दुनिया का सबसे अच्छा डॉक्टर बनाना चाहते थे, उन्होंने सोचा कि वे मुझे सबसे अच्छे संस्थानों में शिक्षा देकर एक क्रांतिकारी पापा बन रहे हैं। लेकिन जब मैंने स्कूल जाने से इनकार कर दिया तो उन्होंने मुझे थप्पड़ मारने की कोशिश की। लेकिन, मैंने उनका हाथ पकड़ लिया और उन्हें कहा ‘अगर तुम मुझे थप्पड़ मारोगे तो मैं भी तुम्हें वापस थप्पड़ मार दूंगी’।

यही था हमारे रिश्ते का अंत था। उनकी आंखों में कुछ बदल गया था। उन्होंने फिर मेरी मां को देखा और कमरे से बाहर निकल गए। मुझे पता था कि मैंने लाइन पार कर ली है और उन्हें फिर कभी नहीं पाया। लेकिन कोई केवल उस विस्तार की कल्पना ही कर सकता है जिसे मैंने तोड़ दिया था वह यह कि कोई मुझे कैद नहीं रख सकता है।

कंगना ने ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि, ‘मेरे पिता के पास राइफल और बंदूकों का लाइसेंस था। बड़े होने तक उन्होंने मुझे डांटा नहीं। लेकिन तब मेरी पसलियां कांप गई जब मुझे पता चला कि वे युवावस्था में वे अपने कॉलेज में गैंग वार के लिए प्रसिद्ध थे, जिससे उनकी छवि एक गुंडे की बन गई थी। मैंने उनके साथ 15 की उम्र में लड़ाई की और घर छोड़ दिया। ऐसे में मैं 15 साल की उम्र में पहली बागी राजपूत महिला बन गई।

कंगना ने आगे लिखा है कि, ‘इस चिल्लर उद्योग को लगता है कि मुझे सफलता मिल गई तो यह सिर चढ़कर बोल रही है और वे मुझे ठीक कर सकते हैं। जबकि मैं हमेशा ही बगाी थी। लेकिन, सफलता के बाद ही मेरी आवाज बुलंद हुई है और आज मैं देश की सबसे मजबूत आवाजों में से एक हूं। इतिहास एक गवाह है जिसने भी मुझे ठीक करने की कोशिश की है मैंने उसे ही थका दिया है।