…आज होती तो अपना 47वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रही होती Divya Bharti

0
120
Divya Bharti Birth Anniversary
Divya Bharti Birth Anniversary

BolBolBollywood.com, स्पेशल स्टोरी, मुंबई। बॉलीवुड में ऐसी कम ही अदाकारा हुई है जिन्होंने महज 20 फिल्मों के सफर में स्टारडम को हासिल कर लिया है। इनमें से एक है 90 के दशक की बेहद खूबसूरत एक्ट्रेस दिव्या भारती। तमिल फिल्मों से करियर की शुरुआत करने वाली दिव्या की आज बर्थ एनिवर्सरी है। उनका निधन महज 19 साल की उम्र में तब हो गया जब वह अपने घर की पांचवीं मंजिल की खिड़की से फिसल गई। उन्होंने अपने छोटे से करियर के दौरान 20 से अधिक फिल्मों में अभिनय किया, जो आज तक किसी भी डेब्यूटेंट द्वारा एक अटूट रिकॉर्ड नहीं है। वह आज अगर जिंदा होती तो अपना 47वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहीं होती।

मौत बनी रहस्य हादसा या ‘हत्या’
उनकी मौत को लेकर कई सवाल खड़े किए जाते रहे हैं। इसे लेकर बॉलीवुड में कई फिल्में भी बनी है। इनमें 2011 में बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता देव आनंद की फिल्म चार्जशीट प्रमुख है। यह फिल्म उनकी मृत्यु और उसके आसपास के रहस्य पर आधारित थी। इसके अलावा 2007 में फराह खान निर्देशित और शाहरुख खान अभिनीत फिल्म ‘ओम शांति ओम’ उनके जीवन की कहानी के नजदीक पहुंचती है। लेकिन, तमाम दावों के बावजूद अंतत: पुलिस ने 1998 में उनकी मौत को एक्सीडेंटल मानकर जांच को बंद कर दिया था।

एक मुस्कान के लिए उमड़ पड़ती थी भीड़
25 फरवरी 1974 को जन्मी दिव्या भारती ने 1990 के दशक की शुरुआत में हिंदी और तेलुगु फिल्मों से काम किया था। उन्हें अपने समय की सबसे लोकप्रिय और सबसे अधिक भुगतान वाली भारतीय अभिनेत्रियों में से एक माना जाता है। ऐसा कहा जाता था कि उनकी मासूमियत के लोग ऐसेदीवाने थे कि वे फिल्म में सिर्फ एक मुस्कान देखने के लिए पूरी फिल्म देख लेते थे। दिव्या का निधन 5 अप्रैल 1993 को हो गया था।

‘शोला और शबनम’ ने दिलाई शोहरत
दिव्या भारती ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत मॉडलिंग के दिनों में की थी। उन्होंने तेलुगु की 1990 में आई रोमांटिक एक्शन ‘बोब्बिली राजा’ में वेंकटेश के साथ मुख्य भूमिका के साथ अपनी शुरुआत की थी। तीन असफल फिल्मों में काम करने के बाद दिव्या भारती को अपनी पहली कमर्शियल हिट राउडी अल्लुडु (1991) मिली। यह वह समय था जब दिव्या भारती ने बॉलीवुड की तरफ अपने कदम बढ़ा दिए थे। उन्होंने 1992 में हिंदी एक्शन थ्रिलर विश्वात्मा (1992) से अपने अभिनय की शुरूआत की। यह बॉक्स आॅफिस पर हिट रही। इसके बाद 1992 की एक्शन-कॉमेडी ‘शोला और शबनम’ ने उनके करियर में एक महत्वपूर्ण मोड़ दिया। इसी साल आई उनकी फिल्म दीवाना ने उन्हें बेस्ट डेब्यू एक्ट्रेस के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार से नवाजा गया।

ऐसे हुई थी साजिद से मुलाकात
दिव्या भारती ने मई 1992 में फिल्म निर्माता साजिद नाडियावाला से लव मैरिज की थी। दरअसल, उनकी मुलाकात शोला और शबनम के सेट पर अभिनेता गोविंदा ने कराई थी। इसके बाद दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ी और दोनों ने शादी कर ली। लेकिन, इसे लगभग 11 महीने उनके निधन तक राज ही रखा गया। इसके पीछे वजह यह बताई गई थी शादी की खबरों से दिव्या के फिल्मी करियर पर असर पड़ सकता था। हालांकि एक कहानी यह भी बताई जाती है इस शादी को छुपाने की वजह साजिद के पिता भी थे।