Ranveer singh का प्रोजेक्ट सपने देखने वाले को समर्पित

0
283

Ranveer singh के जुनूनी प्रोजेक्ट इंकइंक ने दो शानदार साल पूरे कर लिए हैं। युवाओं के इस आइकन ने इस पहल की शुरुआत नवज़ार इरानी के साथ की थी। रणवीर को बेहद गर्व है जिस तरह से उभरते, प्रतिभाशाली संगीतकारों के लिए यह एक क्रिएटिव प्लैटफॉर्म बन गया है और उन्हें और तेज़ी से चमकने में सक्षम बना रहा है।

रणवीर (Ranveer) का कहना है, “कई साल पहले जब मैंने मेरे सपनों को पूरा करने का फैसला किया था, तो इस इंडस्ट्री में काम शुरु करने के लिए पहला कदम बढाना इतना आसान नहीं था। मैं काफी सौभाग्यशाली था कि मैं अपना करियर कड़ी मेहनत, जुनून और खुद पर भरोसे के ज़रिए बना सका। मैंने उस समय खुद से यह वादा किया था कि जब मैं कामयाब हो जाउंगा, तो मैं सपने देखने वाले मेरे साथियों के लिए कुछ करने की कोशिश करुंगा। उस समय मेरे दिमाग में इंकइंक का बीज बोने का काम हो गया था। ”

रणवीर (Ranveer)ने आगे जोड़ते हुए कहा, “आज, मैं शुक्रगुज़ार महसूस करता हूँ कि मैं कुछ बेहतरीन नई प्रतिभाओं के लिए एक प्लैटफॉर्म उपलब्ध करा पाने में सक्षम रहा हूँ। इन प्रतिभाशाली युवा कलाकारों ने जो संगीत तैयार किया है उसे सुनकर मैं अचंभित हो गया हूँ


मैं लगातार एक ऐसी कला का निर्माण करने की उनकी इस योग्यता से प्रभावित हूँ जो पुराने रास्तों को छोड़कर एक नई राह बना रहे हैं। इन प्रतिभाओं को हर प्रकार का समर्थन देने के लिए इंकइंक टीम द्वारा संपूर्ण संभव कोशिशें की जा रही हैं और मैं उन्हें इसके लिए दिल से शुक्रिया करना चाहता हूँ। इन कवियों और गायकों के जूनून में ईंधन भरने का काम करने के लिए टीम की ओर से अथक कोशिशें लगातार जारी हैं। ”

Ranveer को लगता है कि इंकइंक द्वारा खोज किए गए काम भारी, स्पिटफायर, डेविल-द राइमर और स्लोचीता विलक्षण प्रतिभा वाले कलाकार हैं और उन्हें सफलता की नई ऊंचाइयों को छूते हुए देखने में उन्हें खुशी महसूस होगी।

क्यो बनायी इंक इंक?


“वे हमारी पीढ़ी के विलक्षण संगीतमय प्रतिभा के रुप में विकसित हुए हैं जिन्हें व्यापक तौर पर सराहा जा रहा है। इंकइंक ने एक कलाकार के तौर पर उनकी वृद्धि में एक सहायक माध्यम होने की कोशिश की है और इन बेहतरीन हीरों की ऊंची उड़ान के लिए उनके पंखों में बल देने का काम किया है।
मुझे बेहद गर्व है जो कुछ इस टीम ने दो साल के छोटे समय में हासिल किया है और भारत में संगीत के परिदृष्य में हमने जो जीवंतता और विविधता जोड़ने का काम किया है उसे देखकर मैं बेहद रोमांचित हूँ,” उन्होंने कहा।

अब इंकइंक का लक्ष्य इसके कार्य को व्यापक बनाते हुए विस्तार करना है और एक आर्टिस्ट कलेक्टिव बनाना है जो संपूर्ण भारत में नए, लोगों के सामने प्रदर्शित नहीं किए गए कलाकारों और विचारों के लिए एक प्लैटफॉर्म की तरह सेवा उपलब्ध कराना है और सभी जॉनर्स में वैविध्य लाना है।

रणवीर (Ranveer) का कहना है, “हम बस यही करते हैं, जॉनर म्यूज़िक, वीडियो, विजुअल आर्ट और अनुभवों के ज़रिए हम इस प्रयास में फ्लूइड बन जाते हैं। इंक कलाकारों के लिए एक आकाशदीप की तरह है। मैं चाहता हूँ कि यह समुंदर किनारे स्थित प्रकाशस्तंभ की तरह कार्य करे। यदि हम कुछ नया करने के लिए प्रेरित कर सकें, उन तक पहुँचे जिन लोगों तक पहुँचा नहीं जा सकता और उनके दिल को छू सकें ताकि उन्हें भी लगे कि उन्हें शामिल किया गया है, तो यह बेहद संतुष्टि देने वाला काम होगा। ”

उन्होंने आगे जोड़ते हुए कहा, “ मैं अपने भूतकाल में जाउंगा और मुझमें मौजूद उस युवा को प्रेरित करुंगा कि कभी हार मत मानो, कड़ी मेहनत करो, प्रयोगशील बने रहो और नई चीज़ों के लिए कोशिशें करते रहो और नए विचारों को आज़माते रहो। जब कुछ चीज़ें काम नहीं करती हैं तो कोई समस्या नहीं, फिर से निर्माण करो। मैं अपने अंदर मौजूद बच्चे की परवरिश करुंगा और उस बच्चे को खेलते रहने और अभिव्यक्त करते रहने के लिए प्रोत्साहित करुंगा।

मुझमें दौड़भाग करने की, खुद को सीमाओं के परे धकेलने की क्षमता थी ताकि कुछ बनने के लिए मैं अपनी तकदीर खुद बना सकूँ।”

उन्होंने (Ranveer)आगे यह भी कहा, “वे लोग जो उतनी ही मेहनत करते हैं, उन्हें अक्सर वह मौका नहीं मिलता और हो सकता है वह कभी न मिले। मेरा लाखों में एक निशाना था, मैं सबकुछ दाँव पर लगाने के लिए तैयार था और मुझे मेरा मौका मिल गया। भले ही मैं अक्सर हतोत्साहित महसूस करता था, लेकिन मैं डटा रहा।
मैं केवल यही कहना चाहता हूँ कि अगर आपको मौका नहीं मिलता है, आप गिर जाते हो, नीचे पड़े मत रहो, खड़े हो जाओ और खेलते रहो। हमेशा खेलने के लिए प्रेरित रहो। मैं मिसाल देते हुए नेतृत्व करना चाहता हूँ। और इंकइंक के साथ हम यही करने जा रहे हैं। खेलते रहो, गिरो और फिर से दौड़ने के लिए खड़े हो जाओ। आपमें मौजूद बच्चा आपको आनंदित कर देता है, उसकी हमेशा खोज और फिर से खोज करते रहिए।”

नवज़ार ने इंकइंक के आगे के जॉनर फ्लूइड विज़न के बारे में कहा, “ कलेक्टिव अब खुल चुका है। हम खोज करना चाहते हैं, हम किसी एक जॉनर में विश्वास नहीं करना चाहते, तो चाहे वो इलेक्ट्रॉनिका हो या जैज़ म्यूज़िशियन / बैंड हो या गायक –गीतकार या भारत के अंदरुनी इलाकों से कोई लोकसंगीत कलाकार हो- हम किसी एक इस तरह के या उस तरह की सीमा में बंधना नहीं चाहते।

यह पुकार उन सभी कलाकारों के लिए है जो उनके विज़न और कला में विश्वसनीय हैं, यदि आपमें वह धार है – आप हमसे जुड़ जाइए। ” ये वहीं ज़िंदगियाँ हैं जिन्हें हम छूना चाहते हैं और आगे विस्तार करना चाहते हैं। ”