Vashu Bhagnani के खिलाफ KRK के ट्वीट बॉम्बे हाई कोर्ट ने किए बैन

0
159
Hammer Allahabad high court

मुंबई। बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने निर्माता वाशु भगनानी (Vasu Bhagnani), उनके परिवार, व्यवसाय, प्रोफेशन के साथ-साथ उनके सभी प्रोजेक्ट के खिलाफ विवादास्पद और अपमानजनक ट्वीट्स के लिए कमाल राशिद खान उर्फ ​​केआरके पर प्रतिबंध लगा दिया है। बॉम्बे हाईकोर्ट वाशु भगनानी (Vashu Bhagnani) और उनके सभी व्यावसायिक हितों को लेकर केआरके के खिलाफ एक करोड़ रुपए मानहानि मामले में सुनवाई कर रहा था।

इसके बाद अदालत द्वारा एक निषेधाज्ञा जारी की गई है जिसमें मुकदमे के अंतिम निपटान तक प्रतिवादी पर आरोपों, ट्वीट्स को प्रकाशित, प्रसारित या दोहराने पर प्रतिबंध रहेगा। साथ ही वादी, उसके परिवार, व्यवसाय, पेशे या उसकी परियोजनाओं के खिलाफ किसी भी मानहानि, निंदनीय टिप्पणियों या बयानों को जनता तक पहुंचाने पर रोक रहेगी। कोर्ट ने कहा कि, ‛सोशल मीडिया एक बहुत शक्तिशाली उपकरण है, जिसका कई अवसरों पर प्रतिष्ठित व्यक्तियों को बदनाम करने के लिए दुरुपयोग किया जाता है।’

यह पहली बार नहीं है जब बॉम्बे हाईकोर्ट ने कमाल आर खान को वाशु भगनानी, उनके परिवार के सदस्यों, उनके व्यवसाय और उनकी परियोजनाओं के खिलाफ अपमानजनक और अपमानजनक टिप्पणी करने से रोकते हुए एक आदेश पारित किया है। इससे पहले 2 बार कमल आर खान के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट द्वारा आदेश पारित किया जा चुका है। दरअसल, मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने पाया कि कमाल के ट्वीट वैसे नहीं है जैसे किसी फिल्म के लिए क्रिटिक्स द्वारा लिखे जाते हैं। ये गंभीर किस्म की मानहानि वाले ट्वीट्स है जो उन्होंने वासु भगनानी, उनके परिवार, बिज़नेस और उनके प्रोजेक्ट को लेकर किए हैं। वासु भगनानी की तरफ से मामले की सुनवाई के दौरान अदालत में वकील अमित नाइक, वीरेंद्र तुलजापुरकर, रश्मिन खांडेकर और मधु गदोडिया मौजूद रहे थे।