Happy Birthday Arshad Warsi: अगर यह फिल्म Hit नहीं होती तो डूब जाता करियर…

0
86
Arshad Warsi
Arshad Warsi

BolBolBollywood, स्पेशल, स्टोरी, मुंबई। बॉलीवुड कलाकार अरसद वारसी (Arshad Warsi) ऐसे अभिनेताओं में से एक है जिनका संघर्ष से गहरा नाता रहा है। वे बचपन से ही परिस्थिति से जूझते रहे हैं। 19 अप्रैल 1968 को जन्मे अरसद को हालातों ने ऐसा जकड़ा कि वे अपनी पढ़ाई को सिर्फ 10 तक ही जारी रख सके। पिता के निधन के बाद परिस्थिति बेहद खराब हो गई। एक छोटे से कमरे में रहना मजबूरी थी। यही से शुरू हुआ उनकी (Arshad Warsi) जिंदगी में जद्दोजहद का सिलसिला। वे जूझते गए और आगे बढ़ते गए। मजबूर आदमी क्या न करता। सेल्समैन का काम मिला तो वह भी कर लिया। फोटो लैब में काम करके गुजारा करने का मौका हाथ आया तो उसे भी लपकने से नहीं चूकें।

ऐसे डगमगाती रही करियर की गाड़ी
अरसद को अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) की 1996 में प्रोडक्शन कंपनी अमिताभ बच्चन कॉर्पोरेशन के पहले प्रोडक्शन ‘तेरे मेरे सपने’ में एक्टिंग का पहला प्रस्ताव मिला था। इससे पहले Arshad Warsi ‘आग से खेलेंगे’ में डॉन्सर की एक छोटी सी भूमिका में दिखाई दिए थे। उन्होंने इसके बाद बेताबी (1997), मेरे दो अनमोल रतन और हीरो हिंदुस्तानी (दोनों 1998) जैसी फिल्मों में भूमिकाएं निभार्इं। इसके बाद पी वासु की ‘होगी प्यार की जीत’ (1999) में उनके काम की प्रशंसा की गई। वारसी की अगली रिलीज मधुर भंडारकर की निर्देशन वाली फिल्म त्रिशक्ति (1999) थी। 3 साल में पूरी हुई फिल्म ने बॉक्स आॅफिस पर खराब प्रदर्शन किया। 2001 में उनकी एकमात्र फिल्म प्रदर्शित हुई। उसके बाद 2001 में ‘मुझे मेरी बीवी से बचाओ’ और 2002 में ‘जानी दुश्मन एक अनोखी कहानी’आई। ये फिल्में भी बॉक्स आॅफिस पर कमाल नहीं दिखा सकी।

ऐसे शुरू हुआ करियर का अच्छा दौर
…लेकिन, बूरा दौर देखने के बाद 2002 के बाद शुरू हुआ उनके करियर का अच्छा दौर। अगले ही साल 2003 में राजकुमार हिरानी के निर्देशन में बनी फिल्म ‘मुन्ना भाई एमबीबीएस’ के सर्किट का किरदार लोगों के दिलों में जगह बनाने में सफल रहा। खुद अरसद वारसी (Arshad Warsi) ने एक इंटरव्यू में माना कि, ‘अगर यह फिल्म सफल नहीं होती तो उनका करियर खत्म हो चुका होता।’ इसके बाद तो उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा वे कई सफल फिल्मों का हिस्सा रहे और उन्होंने अपनी परफॉर्मेंस से अपने चाहने वालों का एक बड़ा वर्ग तैयार कर लिया। आज उनके फैन्स उनकी फिल्मों का बेसब्री से इंतजार करते रहते हैं।

इन फिल्मों में किया काम
53 वर्षीय अरसद वारसी (Arshad Warsi) के नाम टीवी के चर्चित रियलिटी शो बिग बॉग (2006) को स्थापित करने का श्रेय भी है। वे इसके पहले होस्ट थे। फिल्मों की बात करें तो असरद ने जीतेंगे हम, जानी दुशमन, हलचल, मैंने प्यार क्यों किया,गोलमाल, क्रेजी 4, इश्किया, जिला गाजियाबाद, जॉली एलएलबी, चॉकलेट, सलाम नमस्ते, डेढ़ इश्कया,टोटल धमाल, वेलकम टू कराची, इरादा, फ्रॉड सैंया सहित कई फिल्मों में काम किया है। यही नहीं उनकी वेब सीरीज ‘असुर’ को काफी सराहा गया है। वे जल्द अभिनेता अक्षय कुमार के लीड अभिनय से सजी फिल्म बच्चन पांडे में भी दिखाई देने वाले हैं।