Prithviraj Movie मुख्य रूप से पृथ्वीराज रासो पर आधारित : डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी

0
139
Prithviraj Dr Chandra Prakash Dwidi
Prithviraj Movie is mainly based on the epic Prithviraj Raso: Dr. Chandraprakash Dwivedi

मुंबई। डॉ. चंद्रप्रकाश द्विवेदी (Dr Chandra Prakash Dwivedi) के मन में युगांतरकारी ग्रंथों का अनुकूलन करके उन्हें उतने ही शानदार सिनेमा में परिवर्तित कर देने की एक गहरी आसक्ति बसी हुई है। वह ‘पिंजर’ और ‘मोहल्ला अस्सी’ जैसी बेहद अर्थपूर्ण व प्रशंसनीय फिल्मों के कर्ता-धर्ता रहे हैं। उन्होंने प्रतिष्ठित टेलीविजन धारावाहिक ‘चाणक्य’ का निर्देशन भी किया था। यह फिल्म निर्माता अपनी अगली फिल्म ‘पृथ्वीराज’ (Prithviraj) में व्यस्त है। जिसमें अक्षय कुमार (Akshay Kumar) और मानुषी छिल्लर (Manushi Chhillar) मुख्य भूमिकाएं निभा रहे हैं। विश्व पुस्तक दिवस (World Book Day) के अवसर पर डॉ. द्विवेदी बता रहे हैं कि पृथ्वीराज रासो महाकाव्य इस बहु-प्रतीक्षित ऐतिहासिक फिल्म (Prithviraj) की प्रेरणा कैसे बना।

महाकवि चंद बरदाई की रचना
डॉ. द्विवेदी ने जानकारी देते हुए बताया कि, ‘पृथ्वीराज फिल्म मुख्य तौर पर पृथ्वीराज रासो नामक एक मध्यकालीन महाकाव्य पर आधारित है, जिसकी रचना महाकवि चंद बरदाई ने की थी। रासो के चंद अलग-अलग संस्करणों के अलावा सम्राट पृथ्वीराज (Prithviraj) के जीवन और उनके काल को लेकर काफी साहित्यिक लेखन किया गया है। इसके अतिरिक्त रासो की कुछ टीकाएं और भाष्य भी मौजूद हैं।’

‘व्यापक और गंभीर रिसर्च में डूब जाया करता हूं’
उनका कहना है कि, ‘पृथ्वीराज फिल्म बनाने के लिए उनको इस शूरवीर सम्राट के बारे में गहन शोध करना पड़ा। मैं व्यापक और गंभीर शोधकार्य में डूब जाया करता हूं, क्योंकि मुझे भारत के महानायकों और उनके कालखंडों वाली अज्ञात एवं अनछुई दुनिया में प्रवेश करने की प्रक्रिया बहुत आनंदित करती है। यह उन महान चरित्रों के साथ उन्हीं के दौर में जाकर संवाद करने जैसी प्रक्रिया है। मुझे विश्वास है कि अधिकतर लेखकों ने इस विचित्र तथ्य का अनुभव अवश्य किया होगा।’

खोज और उत्खनन करना मुझे अत्यधिक पसंद
वे आगे कहते हैं, ‘कहानी के अलावा मुझे कला, पुरातत्व, वेशभूषा, भौतिक संस्कृति तथा उपलब्ध ऐतिहासिक आंकड़ों की खोज करना बहुत भाता है। दूसरे शब्दों में कहें तो किसी युग या उस युग के व्यक्तित्वों की पुनर्रचना करने के लिए किसी साहित्यिक कृति या ऐतिहासिक गल्प के पृष्ठों की पुरातात्विक खोज और उत्खनन करना मुझे अत्यधिक पसंद है। एक ऐसा कलाविद होने के नाते मुझे इस कार्य से अत्यधिक प्रसन्नता और संतुष्टि मिलती है, जो लाइट्स और कैमरा के सहारे सिनेमा के कैनवास पर चित्र बनाना चाहता है।’

आगामी कई पीढ़ियों को प्रेरणा देते रहेंगे
उनका मानना है कि पृथ्वीराज जैसे महान योद्धाओं की गाथाएं वर्तमान युग में भी बेहद प्रासंगिक हैं। जहां अच्छाई का बुराई के साथ सतत संघर्ष चल रहा है। उन्होंने कहा कि, ‘मैं पृथ्वीराज जैसे महान चरित्रों को युवा दर्शकों की दृष्टि में प्रासंगिक बनाने हेतु नहीं चुनता। मैं सिनेमा के लिए उनको अपना विषय इसलिए बनाता हूं कि ये चरित्र हमारे समय में भी प्रासंगिक हैं और आने वाले हर युग के लिए भी प्रासंगिक रहेंगे। ये महान ऐतिहासिक चरित्रों की आकाशगंगा के ऐसे चमकते नक्षत्र हैं, जो आगामी कई पीढ़ियों को प्रेरणा देते रहेंगे।’

अक्षय निभा रहे महान योद्धा की भूमिका
पृथ्वीराज के रूप में यशराज फिल्म्स अपनी सबसे बड़ी ऐतिहासिक फिल्म बना रहे हैं, जो निर्भीक और शक्तिशाली सम्राट पृथ्वीराज चौहान के जीवन तथा उनके साहस, पराक्रम और प्रताप पर आधारित है। सुपरस्टार अक्षय कुमार किंवदंती बन चुके इस महान योद्धा की भूमिका निभा रहे हैं। जिसने गोर के क्रर हमलावर मोहम्मद के विरुद्ध वीरतापूर्वक युद्ध किए थे। अलौकिक सुंदरी मानुषी छिल्लर वीर पृथ्वीराज की प्रेमिका संयोगिता का किरदार निभा रही हैं। इस फिल्म से होने वाली मानुषी की शुरूआत नि:स्संदेह रूप से 2021 का बहु प्रतीक्षित डेब्यू साबित होने जा रही है।