Plasma डोनेट करने पहुंचे थे Milind Soman, इस वजह से नहीं हो पाए सफल

0
89
Milind Soman
Milind Soman

मुंबई। मॉडल और अभिनेता मिलिंद सोमन (Milind Soman) ने कोरोना वायरस को आसानी से मात दे दी थी। इसके बाद उन्होंने अपना प्लाज्मा देने की कोशिश की है। लेकिन, वे पयाप्त एंटीबॉडी नहीं होने की वजह से ऐसा नहीं कर पाए हैं। उन्होंने (Milind Soman) अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपनी एक तस्वीर शेयर करते हुए इसकी जानकारी दी है। उन्होंने लिखा है कि ‘बैक टू जंगल! प्लाज्मा डोनेट करने के लिए मुंबई गया था लेकिन डोनेशन के लिए पर्याप्त एंटीबॉडी नहीं थी। भले ही प्लाज्मा थेरेपी 100% प्रभावी साबित नहीं हुई है, लेकिन ऐसी राय है कि इससे मदद मिल सकती है, इसलिए मुझे लगता है कि हमें वह करना चाहिए जो हम कर सकते हैं।’इसके आगे मिलिंद ने लिखा है कि, ‘कम एंटीबॉडी गिनती का मतलब है कि मेरे पास हल्के लक्षण थे और मेरे पास एक और संक्रमण से लड़ने के लिए पर्याप्त एंटीबॉडी है लेकिन इतना नहीं कि मैं अन्य लोगों की मदद कर सकूं। थोड़ा दुखी महसूस हुआ।’

हालांकि, उनकी इस पोस्ट के बाद उनके चाहने वालों ने उन्हें शुभकामनाएं दी और मन छोटा न करने की बात कही है। एक यूजर्स ने लिखा है कि कोई बात नहीं, मन छोटा करने की जरूरत नहीं है। आपने कोशिश की यही सबसे बेहतर है। कई लोग तो ऐसे है जो ऐसे कठिन समय में घरों में दुबक गए। ऐसे ही एक अन्य यूजर्स राहुल ने उनकी इस कोशिश को सैल्यूट करते हुए लिखा है कि आपकी सोच को सलाम। आप वाकई बेहतरीन इंसान है। इसी तरह सुनंदा गुप्ता का कहना है कि मिलिंद जैसे लोग कम ही होते हैं जो अपनी लाइफ में दूसरों के लिए जीते है। हमने देखा है मिलिंद को लोगों ने जितना क्रिटिसाइज किया है वे उससे कही बेहतर इंसान है। कोई किसी इंसान की छवि भले खराब कर दे लेकिन उसकी अच्छी आदत को कभी खराब नहीं कर सकता है। बहरहाल, आपको बता दें कि 17 मई को आईसीएमआर ने इलाज का एक प्रोटोकॉल जारी किया है। इसमें बताया गया है कि प्लाज्मा से कोई फायदा नहीं होता है। इसे उपचार पद्धति से बाहर किया जाना चाहिए।