संगीतकार Raam Laxman का निधन, मैंने प्यार किया सहित 150 फिल्मों में दिया था Music

0
86
Raam Laxman
Raam Laxman Popular music composer has been passed away due to heart attack.

मुंबई। जाने-माने संगीतकार राम-लक्ष्मण (Raam Laxman) यानि विजय पाटिल का शनिवार 22 मई को तड़के नागपुर में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वे 78 वर्ष के थे। उनके बेटे अमर के मुताबिक, ‘मेरे पिता का शनिवार को 2 बजे निधन हो गया। उन्हें कार्डिएक अरेस्ट आया था। उन्होंने (Raam Laxman) कुछ दिन पहले कोविड-19 वैक्सीन का दूसरा लगवाया था, जिसके बाद उन्हें काफी कमजोरी और थकान महसूस हो रही थी।’ बता दें कि राम लक्ष्मण को मैंने प्यार किया, हम आपके हैं कौन, हम साथ साथ हैं, 100 डेज जैसी फिल्मों के लिए संगीत तैयार करने के लिए जाना जाता था।

उनकी आत्मा को शांति मिले: सलमान खान
राम लक्ष्मण के निधन पर बॉलीवुड सेलिब्रिटी ने शोक व्यक्त किया है। अभिनेता सलमान खान ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर लिखा कि, ‘मैंने प्यार किया, पत्थर के फूल, हम साथ साथ हैं, हम आपके हैं कौन जैसी सफल फिल्मों के संगीत निर्देशक राम लक्ष्मण का दुखद निधन हो गया है। उनकी आत्मा को शांति मिले। शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना।

मैं उन्हें अपना सम्मान देती हूं: लता मंगेशकर
सुर सामाज्ञी लता मंगेशकर ने भी राम-लक्ष्मण के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा है कि, ‘मुझे अभी पता चला है कि बेहद प्रतिभाशाली और लोकप्रिय संगीतकार राम लक्ष्मण जी (विजय पाटिल) का निधन हो गया है। मुझे यह सुनकर बहुत अफसोस हुआ। वह महान थे। मैंने उनके कई गाने गाए जो बहुत लोकप्रिय हुए। मैं उन्हें अपना सम्मान देती हूं।’

गौरतलब है कि चार दशक से अधिक लंबे करियर में विजय पाटिल ने हिंदी, मराठी और भोजपुरी भाषाओं में 150 से अधिक फिल्मों के लिए संगीत तैयार किया था। जिसमें ‘मैंने प्यार किया’ और ‘हम आपके हैं कौन’ जैसी ब्लॉकबस्टर भी शामिल हैं। 16 सितंबर 1942 को नागपुर में जन्मे पाटिल ने संगीत की शुरूआती शिक्षा अपने पिता और चाचा से ली थी। बाद में उन्होंने भातखंडे शिक्षण संस्थान में संगीत का अध्ययन किया। दादा कोंडके ने पहली बार उन्हें 1974 में अपनी फिल्म ‘पांडु हवलदार’ के लिए संगीतकार के रूप में साइन किया। पाटिल ने कोंडके द्वारा निर्मित कई अन्य फिल्मों के लिए संगीत तैयार किया, जिनमें ‘तुम्चा अमचा जामला’, ‘राम राम गंगाराम’ और ‘बॉट लाविल तीथे गुड गुल्या’ शामिल हैं।