FWICE ने Bollywood Industry में फिर काम शुरू करने CM Uddhav Thackeray को लिखा पत्र

0
61
fwice request CM Uddhav Thackeray
FWICE ने Bollywood Industry में फिर काम शुरू करने CM Uddhav Thackera को लिखा पत्र.

मुंबई। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की सेकंड वेव के चलते उपजे हालातों को लेकर लागू की पाबंदियों के चलते फिल्म एंड इंटरटेनमेंट इंडस्ट्री के लाखों कामगारों की आर्थिक स्थिति गड़बड़ा गई। ऐसे हालात में इंडस्ट्री के वर्कर्स की संस्था एफडब्ल्यूआईसीआई (FWICE) ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ( Uddhav Thackeray) से पत्र लिखकर काम फिर से शुरू करने की अनुमति देने का अनुरोध किया है। 31 मई को लिखे गए पत्र में संस्था (FWICE) के चीफ एडवाइजर अशोक पंडित (Ashoke Pandit Chief Advisor), प्रेसीडेंट बीएन तिवारी (BN Tiwari President), चीफ एडवाइजर शरद शेलर ( Sharad Shelar Chief Advisor), जनरल सेक्रेटरी अशोक दुबे (Ashok Dubey Gen Secretary) और कोषाध्यक्ष गणेश्वर श्रीवास्तव (Gangeshwar Shrivastav Treasirer) के हस्ताक्षर हैं।

हमारे अनुरोधों पर नहीं लिया कोई निर्णय
इस पत्र में सरकार को पहले लिखे गए पत्र का उल्लेख करते हुए कहा है कि, ‘विषय वस्तु के संदर्भ में हम आपका ध्यान एफडब्ल्यूआईसीई और समन्वय समिति द्वारा इंडस्ट्री में काम फिर से शुरू करने के हमारे अनुरोध के संबंध में भेजे गए कई अनुरोधों की ओर आकर्षित करना चाहते हैं। हालांकि, आपके कार्यालय द्वारा हमारे किसी भी पत्र का जवाब नहीं दिया गया है और हमारे अनुरोधों पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

डेढ़ साल से बेरोजगार और आय का साधन ठप
इस पत्र में बताया गया है कि आपको बता दें कि लाखों कलाकार, कर्मचारी और तकनीशियन हैं जो पिछले डेढ़ साल से बेरोजगार हैं और उनके लिए आय का एकमात्र स्रोत फिल्म इंडस्ट्री से है। यह उद्योग लाखों लोगों को काम प्रदान कर रहा है और उनके परिवारों को अपनी दैनिक रोटी कमाने में सक्षम बनाता है। हालांकि, उद्योग के लॉकडाउन ने इन दैनिक वेतन भोगी श्रमिकों के जीवन को प्रभावित किया है जिनके पास आय का कोई अन्य स्रोत नहीं है और पूरी तरह से उद्योग के काम पर निर्भर हैं।

कठिन परिस्थितियों से गुजर रहे सदस्य
पत्र में कहा है कि, ‘अगले 15 दिनों के लिए लॉकडाउन के विस्तार की घोषणा वास्तव में कलाकारों, श्रमिकों और तकनीशियनों के इन वंचित समूह और उद्योग की अर्थव्यवस्था के लिए एक झटका होगी। लॉकडाउन की वजह से न केवल श्रमिक बल्कि निर्माता भी पहले से चल रही परियोजना के ठप होने से प्रभावित हुए है। जबकि इनमें भारी निवेश किया गया है।’ उन्होंने आगे लिखा है कि, ‘हम उद्योग के कलाकारों, श्रमिकों और तकनीशियनों के 32 विभिन्न मातृ संस्था होने के नाते हमें सदस्यों से उनके कठिन परिस्थितियों के बारे में कई सूचना प्राप्त हो रही हैं। इस वजह से हम कामकाज फिर शुरू करने का अनुरोध कर रहे हैं।’

काम शुरू करने प्रदान करें विशेष अनुमति
पत्र में रिक्वेस्ट करते हुए आगे लिखा है कि, ‘हम आपसे अनुरोध करते हैं कि कृपया हमें एम एंड ई उद्योग के काम को फिर से शुरू करने के लिए एक विशेष अनुमति प्रदान करें। जिससे इन लाखों दैनिक वेतन भोगी श्रमिकों को अपना जीवन यापन करने और इन सबसे कठिन समय के दौरान अपने परिवारों के साथ जीवित रहने में सक्षम बनाया जा सके। इस दौरान हम यह सुनिश्चित करेंगे कि सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन करने के साथ काम फिर से शुरू हो।’

सरकार को दिलाया विश्वास
इस पत्र में सरकार को सभी सावधानियां बरतने का विश्वास दिलाते हुए लिखा है कि, ‘एफडब्ल्यूआईसीई (FWICE) और समन्वय समिति आपको आश्वस्त करती है कि सरकार के सभी नियमों और विनियमों का पालन प्रत्येक क्रू मैंबर्स के सदस्य द्वारा किया जाएगा और प्रत्येक कार्य स्थान पर सभी आवश्यक सावधानी बरती जाएगी। हम तदनुसार एम एंड ई उद्योग में काम फिर से शुरू करने के लिए आपकी समझ, सहयोग और आपकी अनुमति के लिए तत्पर हैं।’