Apna Time Bhi Aayega की Megha Ray ने ऐसे की कोविड पॉजिटिव पैरेंट्स की देखभाल!

0
145
Megha Ray
Megha Ray

मुंबई। जी टीवी (Zee TV) का लोकप्रिय शो ‘अपना टाइम भी आएगा’ अपनी शुरूआत से ही रानी की प्रेरणादायक कहानी के साथ दर्शकों को प्रेरित कर रहा है। जयपुर के एक अमीर परिवार की हेड स्टाफ सदस्य रानी अपनी औकात की जंजीरों से आजाद होकर खुद अपनी तकदीर लिखना चाहती है। जहां रानी का किरदार देश की कई महिलाओं से जुड़ गया। वहीं, इस कहानी में आ रहे अप्रत्याशित उतार-चढ़ाव ने दर्शकों को उनके टेलीविजन स्क्रीन्स से बांधे रखा है। रानी का रोल निभा रहीं मेघा रे (Megha Ray) अपने किरदार को लेकर पहले दिन से ही प्रतिबद्ध हैं। असल में कोविड अवकाश के बाद जब से उन्होंने काम दोबारा शुरू किया है। तब से ही वो लगातार कड़ी मेहनत कर रही हैं। जहां कोविड-19 (Covid 19) ने हर इंसान का चैन और सुकून छीन लिया था, वहीं मेघा रे (Megha Ray) और उनके पैरेंट्स भी इस मामले में अपवाद नहीं थे और वो भी इस स्थिति के शिकार हुए थे।

अपना टाइम आएगी की पूरी टीम ने किया सपोर्ट
कुछ समय पहले मेघा के पैरेंट्स का कोविड टेस्ट पॉजिटिव आया था और इस एक्ट्रेस को उनकी देखभाल करने के लिए लंबी छुट्टी लेनी पड़ी। हालांकि उनकी खुद की रिपोर्ट नेगेटिव थी, लेकिन ‘अपना टाइम भी आएगा’ की पूरी टीम के सपोर्ट से उन्होंने और उनके पैरेंट्स ने इस स्थिति को पार कर लिया। वैसे, उन्होंने जिन मुश्किलों का सामना किया था, वो अब भी उनके जेहन में ताजा है। कोविड से जंग जीतने के बाद मेघा रे ने अब राहत की सांस ली है। इस दौरान उन्होंने अपने कोविड पॉजिटिव पैरेंट्स की देखभाल करने का पूरा अनुभव भी बताया।

…तो मैं लगातार डॉक्टरों के संपर्क में थी
मेघा रे (Megha Ray) बताती हैं कि, ‘जब मेरे मॉम और डैड का रिजल्ट पॉजिटिव आया, तो उनके मुंह का स्वाद चला गया था। वो जो भी खाते थे, उन्हें कड़वा लगता था। मैंने खाने-पीने की ऐसी चीजें चुनीं, जिससे उनका पोषण हो सके और वो इसे खा भी सकें। मैं सिर्फ उन्हें हेल्दी फूड नहीं देना चाहती थी, बल्कि मुझे यह भी देखना था कि वो क्या खा सकते हैं। मैंने अलग अलग तरह के सलाद और सूप तैयार किए और उनकी रेगुलर डाइट में ताजा फलों को शामिल किया। चूंकि वो क्वारेंटाइन थे, तो मैं लगातार डॉक्टरों के संपर्क में थी, ताकि उनकी रिपोर्ट और ब्लड टेस्ट का ध्यान रखा जा सके। मैं लगातार उनका टेंपरेचर मॉनिटर कर रही थी और यहां तक कि उनके फ्लुएड इनटेक पर भी मेरी नजर थी। यह उनके लिए बड़ा कठिन वक्त था, जहां उनका हौंसला टूट रहा था। इसलिए मैं उनका आत्मविश्वास बनाए रखने के लिए उन्हें नियमित रूप से वीडियो कॉल करती थी। अपने पैरेंट्स को इन हालातों में देखकर कभी-कभी मैं टूट जाती थी, लेकिन मुझे पता था कि मुझे मजबूत बने रहना है। उनकी जरूरतों का ख्याल रखने के लिए मैं हर चीज करती थी, चाहे उनके स्वास्थ्य की देखभाल हो, उनके खान-पान का ख्याल रखना हो या फिर उनका मनोबल बनाए रखना हो।

…शुरूआती दिन तो बड़े चुनौती भरे थे
मेघा (Megha Ray) आगे बताती हैं कि, इन सबके बीच मैं भी बीमार पड़ गई और मुझे अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना पड़ा। यह पहली बार था जब मुझे ना सिर्फ खुद का ख्याल रखना पड़ा, बल्कि मुझे मिलाकर परिवार के तीन सदस्यों का भी ध्यान रखना था। यह बिल्कुल नया अनुभव था और शुरूआती दिन तो बड़े चुनौती भरे थे। उस समय हमारे घर पर कोई काम वाली नहीं आ रही थी, तो मुझे ही घर के सारे काम करने पड़ते थे, चाहे वो खाना पकाना हो या साफ सफाई करना। हालांकि मैंने अपना टाइम भी आएगा की शूटिंग भी मिस की और मुझे चिंता थी क्योंकि मैं करीब 15 दिनों से इस शो का हिस्सा नहीं बन पा रही थी। मुझे लगता है कि अपने पैरेंट्स के स्वास्थ्य से जरूरी और कुछ नहीं होता। मैं खुद को खुशनसीब मानती हूं कि मैं उनका ख्याल रख पाई। मैं उन लोगों के बारे में तो अंदाजा भी नहीं लगा सकती, जो ऐसी मुश्किल घड़ी में अपने पैरेंट्स से दूर रह रहे हैं। यह प्रक्रिया भले ही मुश्किल थी, लेकिन मुझे खुशी है कि वो वक्त गुजर गया। अपने पैरेंट्स के क्वारेंटाइन पीरियड के बाद मैं उनसे मिलकर बेहद खुश थी।

आने वाले एपिसोड्स में दिखेंगे तनाव भरे पल
जहां मेघा रे की हिम्मत और हौसला काबिले तारीफ है, वहीं रानी भी राजेश्वरी की वापसी के बाद बन रहे हालातों के बीच खुद को मजबूत बनाए रखने की कोशिश कर रही हैं। राजेश्वरी जब वीर और कियारा की शादी का ऐलान करती हैं, तो इससे रानी फिक्र में पड़ जाती है। आने वाले एपिसोड्स में दर्शक कुछ तनाव भरे पल भी देखेंगे, जब जय, वीर और कियारा की ड्रिंक में कुछ मिला देता है। लेकिन इस बीच रानी और वीर के बीच उमड़ती भावनाएं देखकर दर्शकों को थोड़ा सुकून भी मिलेगा। आपको बता दें कि, ‘अपना टाइम भी आएगा’ हर सोमवार से शुक्रवार शाम 7 बजे जी टीवी पर प्रसारित किया जाता है।