Site icon Bol Bol Bollywood

Bhumi Pednekar : जलवायु संरक्षण दुनियाभर में चर्चा का सबसे महत्वपूर्ण केंद्र बिंदु बन गया है

Bhumi Pednekar

Bhumi Pednekar

मुंबई | युवा बॉलीवूड स्टार Bhumi Pednekar जलवायु संरक्षण की एक कट्टर समर्थक है। वह सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर क्लायमेट वॉरियर नामक एक बेहद सराहा गया जलवायु कार्यक्रम संचालित करती हैं जो पर्यावरण संरक्षण से जुड़े मुद्दों के लिए खड़ा होने हेतु आज के युवाओं को जोड़ने की कोशिश करती हैं। भूमि Giphy नामक एक अमेरिकी ऑनलाइन डाटाबेस और सर्च इंजिन पर मौजूद है जिसे एनिमेटेड तस्वीरें, या GIF तैयार करने और साझा करने के लिए जाना जाता है और उसके जलवायु से जुड़े कंटेंट में 1 बिलियन व्ह्यूज़ को पार कर लिया है! क्लायमेट एक्शन GIF को दुनिया की शीर्ष विश्व संस्थाओं द्वारा शामिल किया गया है: यूनिसेफ, ग्रीनपीस, फ्यूचर अर्थ और यूनायटेड नेशन्स जो क्लायमेट एक्शन पर जागरुकता निर्माण का कार्य कर रहे है।

ग्रीनपीस के पास करीब 105 मिलियन व्ह्यूज़ हैं जबकि यूनायटेड नेशन्स के पास 172 मिलियन व्ह्यूज़ हैं और इन दोनों की तुलना में भूमि के GIF को सबसे ज़्यादा व्ह्यूज़ प्राप्त हैं। उसके GIF में उन GIF को शामिल किया गया है जो जलवायु, संवहनीयता और पर्यावरण के विभिन्न विषयों के अंतर्गत तैयार किए गए हैं। Bhumi Pednekar का उद्देश्य है युवाओं को आकर्षित करने वाले Giphy जैसे प्लैटफॉर्म का उपयोग करते हुए और ज़्यादा जागरुकता का निर्माण करना।

यह भी पढ़े –https://bolbolbollywood.com/?s=Radhakrishn : स्टार भारत के ‘राधाकृष्ण’ शो ने पूरे किए अपने 700 एपिसोड, हासिल की एक और उपलब्धि!

भूमि का कहना है, “जलवायु संरक्षण दुनियाभर में चर्चा का सबसे महत्वपूर्ण केंद्र बिंदु बन गया है और इस विषय पर एक होने के लिए मैं दुनियाभर के युवाओं को धन्यवाद देती हूँ। उन्होंने इसे संभव बनाया है और कई अन्य लोगों को आगे आने और अपनी बात रखने के लिए प्रेरित किया है। यह सच्चाई कि क्लायमेट वॉरियर GIF ने 1 बिलियन व्ह्यूज़ को पार कर लिया है, इसका मतलब है जलवायु न्याय के लिए उनकी आवाज़ बुलंद करने हेतु दुनियाभर के युवाओं ने इसे उपयोगी पाया है।”

उन्होंने आगे जोड़ते हुए कहा, “मेरे लिए यह खुशी का बहुत बड़ा क्षण है क्योंकि मेरा सोशल मीडिया समर्थन प्लैटफॉर्म क्लायमेट वॉरियर दुनियाभर में इतने सारे लोगों के साथ गूंजायमान हुआ है। यह जानना बहुत अद्भुत है कि किस प्रकार यह असेट युवाओं के हाथों में एक साधन बन गए हैं दुनिया को यह बताने के लिए कि हमें कितनी शीघ्रता से हमारे ग्रह और सभी जानवरों को बचाने की आवश्यकता है जिन्हें पृथ्वी पर रहने का बराबर का अधिकार प्राप्त है।”

Exit mobile version