Henna Movie 1991 के आज 30 साल पूरे: Raj Kapoor की आखिरी और अधूरी फिल्म, मौत के बाद बेटे ने कराई Release

0
144
Henna Movie 1991
Henna Movie 1991

BolBolBollywood, Special Story, मुंबई। बॉलीवुड में भारत-पााकिस्तान के रिश्तों को लेकर कई फिल्में बनी लेकिन ऐसी कम ही है जो इन रिश्तों को मजबूत करने आवाम के दिलों में मुहब्बत का बीज बौने का काम करे। लेकिन, 28 जून 1991 को रिलीज की गई फिल्म हीना (Henna Movie 1991) की कहानी ऐसी ही है। जिसमें दो सरहदों के बीच मुहब्बत को एक अलग अंदाज में परोसा है। इस खूबसूरत कहानी (Henna Movie 1991) को अपने शब्दों से तरासने का काम ख्वाजा अहमद अब्बास ( Khwaja Ahmad Abbas) द्वारा किया गया था। जबकि रणधीर कपूर (Randhir Kapoor) द्वारा इसको निर्मित किया गया था।

पाकिस्तानी हसीना मोइन ने लिखे थे संवाद
फिल्म में ऋषि कपूर (Rishi Kapoor), पाकिस्तानी अभिनेत्री जेबा बख्तियार (Zeba Bakhtiar) और अश्विनी भावे (Ashwini Bhave) की प्रमुख भूमिकाएं हैं। दरअसल, इस फिल्म की योजना और शुरुआत महान निर्देशक राज कपूर (Raj Kapoor) ने की थी, लेकिन शूटिंग चल ही रही थी तब उनका निधन हो गया। इस वजह से बाकी का बचा हुआ हिस्सा उनके बड़े बेटे रणधीर कपूर द्वारा निर्देशित किया गया था। इस वजह से यह राज कपूर की आखिरी फिल्म बन गई। फिल्म के संवाद प्रशंसित पाकिस्तानी लेखक हसीना मोइन द्वारा लिखे गए थे।

रविंद्र जैन और नक्श का लाजवाब संगीत
यह फिल्म अपने लोकप्रिय संगीत के दम पर साल की बड़ी हिट बनकर सामने आई थी। रवींद्र जैन (Ravindra Jain) और नक्श लायलपुरी के लाजवाब संगीत से सजी फिल्म में ‘मैं हूं खुश रंग हीना’, ‘अनारदाना’ और ‘देर ना हो जाए कहीं’ जैसे चार्ट बर्स्टर गाने शामिल थे। कुल 9 सॉन्ग से सजी फिल्म में लता मंगेशकर, सुरेश वाडकर और मोहम्मद अजीज, फरीद शाबरी, सतीश और मोहम्मद सईद की आवाजें है।

जेबा बख्तियार और फिल्म फेयर नामांकन
टाइटल भूमिका में जेबा बख्तियार के प्रदर्शन को बहुत सराहा गया और जिसके लिए उन्हें फिल्मफेयर पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री की श्रेणी में नामांकित किया गया। वह सलमा आगा और सबा कमर के साथ फिल्मफेयर पुरस्कारों में नामांकित होने वाली एकमात्र पाकिस्तानी अभिनेत्रियों में से एक हैं।

फरीदा जलाल का यादगार किरदार
बीबी गुल के रूप में फरीदा जलाल के अभिनय को भी काफी सराहा गया। उन्होंने सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार जीता। फिल्म ने सर्वश्रेष्ठ फिल्म और सर्वश्रेष्ठ निर्देशक सहित कई अन्य नामांकन भी प्राप्त किए। इस फिल्म ने अभिनेत्री अश्विनी भावे की हिंदी फिल्म की शुरूआत की है। जिन्होंने फिल्म में एक प्रमुख भूमिका निभाई और फिल्म की सफलता से उन्हें काफी लोकप्रियता मिली।