शालिनी ने हिमाचल प्रदेश में एक पपी को बचाया, उसे गोद लिया!

0
36

रणवीर सिंह स्टारर बहुप्रतीक्षित फिल्म जयेशभाई जोरदार से बॉलीवुड में बड़े पर्दे पर डेब्यू करने जा रहीं एक्ट्रेस शालिनी पांडे, ने हिमाचल प्रदेश में एक पपी(कुत्ते के बच्चे) को बचाया और उसको गोद ले लिया है।

वह बताती हैं, “मैं सात दिन के बीर (हिमाचल प्रदेश) के पर्सनल ट्रिप पर थी। 5वें दिन, जब मैं एक ट्रेक के लिए ड्राइव कर रही थी, मैंने देखा कि एक पपी सड़क पर डर कर इधर-उधर भाग रहा है, रो रहा है, चिल्ला रहा है, काँप रहा है। वह बहुत बुरी स्थिति में है। मैंने कार रोकी और उसकी ओर दौड़ी, उसे अपनी बाँहों में उठा लिया। वह तुरंत शांत हो गई, मुझे पपी के साथ तत्काल बॉन्ड महसूस हुआ।”

शालिनी आगे कहती हैं, “स्थानीय लोगों से पपी के बारे में पूछने पर, मुझे पता चला कि उसको उसकी मां ने छोड़ दिया है और पिछले 2-3 दिनों से सड़कों पर घूम रही है और डरी हुई है। पपी अभी लगभग 2 महीने की थी। मैं प्राची नाम की बीर की लोकल से मिली जो लोकल स्ट्रीट डॉग्स को शेल्टर देती हैं। मैंने उनसे समझा कि पपी को लेकर क्या किया जा सकता है। ”

शालिनी को लगा कि पपी को गोद लिया जा सकता है और बचाने के बाद पपी को उसी हालत में छोड़ना ठीक नहीं था।

वह कहती है, “प्राची बेहद मददगार थीं! मैं पपी से काफी अटैच हो गई थी और उसको जाने देना नहीं चाहती थी। मैंने पूरी शाम उसकी देखभाल में बिताए और उसे गोद लेने का फैसला किया। मैंने पता किया कि क्या ऐसा हो सकता है और प्राची को छोड़कर आगे बढ़ गई। मैंने यह भी पता किया कि क्या पपी को मुंबई ले जाया जा सकता है क्योंकि यह हिमाचली है और वे काफी झबरीले होते हैं और तेज गर्मी के अभ्यस्त नहीं होते। मुझे बताया गया कि पपी को मुंबई ले जाया जा सकता है क्योंकि वह बहुत छोटी है और आसानी से मुंबई के तापमान के अनुकूल ढल सकती है!”

शालिनी आगे कहती हैं, “यह सुनकर मुझे बहुत खुशी हुई! मुझे वापसी के लिए फ्लाइट लेनी थी लेकिन मैंने अपना टिकट कैंसिल कर दिया और उसकी जगह ट्रेन बुक किया। मैं बीर से सड़क के रास्ते चंडीगढ़ पहुंची और फिर वहां से मुंबई के लिए ट्रेन पकड़ी। यहां से मुंबई पहुंचने में लगभग 40 घंटे लगे। मैं बहुत खुश हूं और पपी को अपने साथ पाकर मेरा दिल फूले नहीं समा रहा है।”

“इसके अलावा, मैं उसका नाम बीर रखने का सोच रही हूँ!”