सस्पेंस से भरा हैं डिअर फादर का ट्रेलर

0
189
सस्पेंस से भरा हैं डिअर फादर का ट्रेलर
सस्पेंस से भरा हैं डिअर फादर का ट्रेलर

जिस घर से अपने कैरियर की शुरुवात कर बॉलीवुड के हंगामा मैन बन गए । जिस गुजराती सिनेमा के आंचल के नीचे से निकल कर मायानगरी के बाबू भाई बन गए। एक उम्दा अभिनेता और राजनेता बनकर करोड़ो दिलो पर राज करनेवाले परेश रावल 40 साल बाद वापस अपने घर मे वापसी कर चुके हैं। जी हा, 1982 में फ़िल्म “नसीब नी बलिहारी ‘ में एक्टिंग करने के बाद अब 2022 में परेश जी गुजराती सिनेमा में डबल धमाके से वापसी कर रहे हैं फ़िल्म ‘डियर फादर’ से ।

सबसे खास बात ये है कि ये फिल्म खुद परेश रावल के प्ले ‘डियर फादर’ का फिल्मी वर्शन हैं। जिसकी कहानी काफी रहस्यमयी हैं। गुजराती सिनेमा में अपनी वापसी और खुद के मशहूर प्ले को फिल्म में साकार होते हुए देख एक्टर परेश रावल कहते हैं कि ” डियर फादर जो नाटक हैं,वो मेरे दिल के बहुत करीब हैं ।

मैं सालो से चाहता था कि इस प्ले पर एक फिल्म बने। मैंने बहुत सारे प्ले किये हुए हैं और करता आ रहा हु और उनकी स्क्रिप्ट को फ़िल्म में साकार भी किया हैं। मैं चाहता था कि इस प्ले की कहानी ज्यादा से ज्यादा लोगो तक और समाज तक पहुँचे और मैं चाहता था कि मैं एक सार्थक और महत्वपूर्ण फिल्म कहानी का हिस्सा बनू जो मेरी मातृ-भाषा मे हो। मैं बहुत खुश हूं कि मुझे 40 साल बाद गुजराती सिनेमा में इस फिल्म के जरिये वापसी करने का मौका मिला” ।

फिल्म में परेश रावल के अलावा मुख्य किरदार में गुजराती सिनेमा के मशहूर एक्टर चेतन धनानी और एक्ट्रेस मानसी पारेख हैं। फिल्म की कहानी 3 किरदारों के इर्द-गिर्द घूमती हैं। जहाँ एक बूढ़े बाप और उसके बेटे-बहू से रोजमर्रा में हो रहे आपसी मतभेद और नासमझी की खूबसूरत कहानी हैं। जिसमें पिता का किरदार कर रहे परेश जी का अचानक एक्सीडेंट हो जाता हैं और जब पुलिस छान-बीन के लिए उनके बेटे-बहु के घर पहुँचती हैं तब दोनों देखकर दंग रह जाते हैं कि पुलिस ऑफिसर में जो शक्श हैं वो उनके पिता का हमशक्ल हैं जो हूबहू उनके जैसा दिखता हैं और वही से मोड़ आता है फ़िल्म में और शुरू होती हैं फ़िल्म की असल कहानी।

फिल्म को डायरेक्ट किया हैं उमंग व्यास ने और प्रोडूस किया हैं रतन जैन और गणेश जैन ने। इस प्ले के राइटर थे स्वर्गीय उत्तम गाडा जी। फिल्म 4 मार्च 2022 को सिनेमाघरों में रिलीज की जाएगी। तो परेश जी की अद्भुत अदाकारी और गुजराती सिनेमा के लिए उनका बेइंतहा प्यार ,और ‘डियर फ़ादर’ की ये अनोखी पेशकश वाकई उनके चाहनेवालो की दिलो दिमाग में एक गहरी छाप छोड़ ही जाएगी।