प्रकट हो रहे है ‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’ के ५ अनजाने तथ्य

 
‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’ मुंबई के भारतीय राजनीति और चुनाव की पार्श्वभूमीपर दो भाई बहन – पूर्णीमा और आशिस गायकवाड-और उनकी ताकद की प्यास पर आधारीत है| नागेश कुकनूरद्वारा निर्देशित इस शो में प्रिया बापट, सिद्धार्थ चांदेरकर, ऐजाज खान, अतुल कुलकर्णी और सचिन पिलगावकर शामिल है|

इन प्रतिभाशाली अभिनेताओं को साथ लाकर ‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’ की कहानी चरम ताकद, भ्रष्टाचार और छल की है| बिंज के साथ अब यशस्वी रुप से स्ट्रीम होनेवाले इस शो के ५ अनजाने तथ्य है:
 
अप्लॉज एन्टरटेनमेन्ट ने हाल ही में काफी सारी सुंदर नाटकीय शृंखलाएँ विकसित की है| माध्यमों के प्रथम अन्वेषक समीर नायर द्वारा अगुवाई कर कन्टेन्ट स्टुडियो ने विख्यात निर्देशक नागेश कुकनूर को उनकी भागीदारी के शुरुआती दिनों में, इस आधुनिक मुंबई की पार्श्वभूमीपर आधारीत ‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’ के प्रसिद्ध राजकीय नाटक की धुरा सौंपी है|
 

‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’ ये पहले तो फिचर फिल्म की कहानी थी|क्या आपको पता है कि सिटी ऑफ ड्रीम्स का नाम पहले “द अफेर्स” रखा गया था और ये फिचर फिल्म बननेवाली थी? मूल
संकल्पना तो फिचर फिल्म की थी लेकिन बहरहाल उसे शृंखला में बदली किया गया|

निर्देशक के अनुसार जब ये कहानी मूलत: लिखी गई थी तो इसमें २-३ बहोत ही रोचक अन्तर्विभाजक कहानियाँ थी, तो ये वेब शृंखला के लिए आसान थी क्योंकि हमारेपास एक ही शृंखला में ज्यादा कहानियाँ जोडने का मौका था| अप्लॉज एन्टरटेनमेन्ट ने हाल ही में राजकीय रोमांच से भरपूर ‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’ को हॉटस्टार स्पेशल के साथ प्रदर्शित किया है|
 

नागेश कुकनूर ने ‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’ के साथ वेब की दुनिया में कदम रखा है! ये भी पहली बार हुआ है कि नागेश ने इसकी शूटिंग मुख्यत: मुंबई में ही की है|
पुरस्कृत निर्देशक-प्रोड्युसर-लेखक नागेश कुकनूर उनकी इकबाल (२००५), डोर (२००६) और धनक (२०१६) जैसी प्रशंसित फिल्मों से जाने जाते है, जिन्होंने अब राजकीय नाटक सिटी ऑफ ड्रीम्स के साथ उनके दर्शकों के लिए डिजीटल दुनिया में भी यशस्वी पदार्पण किया है| ये भी पहली बार हुआ है कि उन्होंने मुंबई का नजारा उनके कैमरे की लेंसद्वारा देखा है| इस शो की हर फ्रेम को उन्होंने खुद निर्देशित किया है और टीवी शोज के शो-रनर की बहोत सारी ऑफरों को ठुकराया है|
 
ऐजाज खान बॉलीवुड के बहोत सारे गुणी कलाकारों में से इस भूमिका के लिए बहोत ही सही चुनाव साबित हुए है|पुलिस की भूमिका में जानेमाने अभिनेताओं ने बडी ब्लॉकबस्टर फिल्मों के निर्माण में पुलिस विभाग से प्रेरणा ली गई है|

वैसे ही वासिम खान की भूमिका के लिए बॉलीवुड के जानेमाने अभिनेताओं का परिक्षण किया गया, लेकिन नागेशजी के मन में बसनेवाला वासिम खान सिर्फ ऐजाज खान में देखा गया! जब हिलरी क्लिंटनजी मुंबई पधारी थी तो उसी दिन शुरुआती ड्रोन सिक्वेन्स को शूट किया गया था|  

उडनेवाले ड्रोन के लिए खास कर मुंबई में काफी सारे सख्त कानून और नियमों के साथ शुरुआत के सीन को शूट करना ‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’ की प्रॉडक्शन टीम के लिए काफी बडी चुनौति साबित हुई|

इस सिक्वेन्स को मरिन ड्राइवपर ओबेरॉय हॉटेल के नजदिक १० मार्च २०१८ को, शनिचर के दिन शूट किया गया| शूटिंग के दौरान लिए उसी दिन, अमरिकन राजनीतिज्ञ हिलरी क्लिंटनजी भी मुंबई को भेंट देने आ पहुँची थी तो परिस्थिती का तनाव और ज्यादा बढ गया था| तो आप सोच सकते है कि काफी सुरक्षा कर्मियों की उपस्थिती और अनुमति के मुद्दों के बावजूद भी टिम ने यशस्वी तरीके से ‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’ का सुंदरसा सिक्वेन्स शूट किया|
देखना ना भूलिए अप्लॉज एन्टरटेनमेन्ट का हॉटस्टारपर स्ट्रीम हो रहा ‘सिटी ऑफ ड्रीम्स’|