Divyanka Tripathi Dahiya ने की फ्लाइट क्रू की सराहना

Divyanka Tripathi Dahiya

मुंबई | Divyanka Tripathi Dahiya एक जानी मानी अभिनेत्री हैं , वह जब भी कुछ अनुचित होते देखती हैं तो वह काफी मुखर होती हैं। उनके सोशल मीडिया अकाउंट हमेशा अपडेट रहते है क्योंकि अभिनेत्री अपने अभिनय और काम के अलावा वर्तमान विषयों पर अपने प्रशंसकों से जुड़ती है।

कोविड -19 संकट के बीच, दिव्यंका का भाई जो एक पायलट होता है, अंतरराष्ट्रीय यात्रा के कारण सेल्फ क्वार्नटाईन में है।

दिव्यंका यह देखकर आश्चर्यचकित है कि जानकारी के अभाव में हमारा समाज कितनी आसानी से गुमराह हो जाता है और इन कठिन हालातों में फ्लाइट क्रू, पायलट आदि की कड़ी मेहनत को नजरअंदाज कर रहा है।

अपने भाई के बारे में बात करते हुए दिव्यंका कहती हैं, “मेरे भाई ने मुझे बताया कि वह भारत के अंदर और बाहर के विमानों को उड़ा रहा था जिसे किसी अन्य उड़ान दल की तरह मिनिस्ट्री ऑफ़ सिविल एविएशन द्वारा मंजूरी दे दी गई थी।”

उसकी आखिरी अंतरराष्ट्रीय उड़ान लगभग 13 दिन पहले हुई थी और उन्होंने कोरोना के कोई लक्षण नहीं दिखाए हैं और उसी के लिए अधिकृत गवर्नमेंट डॉक्टरों को हर रोज रिपोर्ट कर रहे हैं।

हाल के दिनों में सभी अंतर्राष्ट्रीय फ्लाइट के क्रू मेंबर सेल्फ क्वार्नटाईन में चले गए हैं पर इसका मतलब यह नहीं है कि वे corona पॉजिटिव है यह बस खुद की सुरक्षा के लिये है | ”

पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा 24 मार्च को घोषणा के अनुसार, पूरे देश में लॉकडाउन और क्वार्नटाईन मोड है। सुरक्षा उपाय के रूप में, कल दिव्यंका के भोपाल स्थित घर के बाहर एक स्टीकर लगाया गया है |

“मेरा भाई स्वेच्छा से सेल्फ क्वार्नटाईन में चला गया है क्योंकि यह एक नागरिक के रूप में उसका कर्तव्य है। कुछ दिन पहले ये लेबल हमारे भोपाल के घर के बाहर लगाए गए थे ,यह इस बात का संकेत नहीं है कि जिस व्यक्ति का उल्लेख किया गया है वह ‘कोविडविड -19 रोगी’ है।

कुछ दिन पहले, सरकार के चिकित्सा अधिकारियों ने भी मेरे घर का दौरा किया (जो कि एक नियमित अंतराल पर होना चाहिए था मगर उन्होंने हमारे घर के सर्वेन्ट्स से मुलाकात की और कहा कि मेरे भाई को कोरोना है जो पूरी तरह से झूठ था|

View this post on Instagram

#CoronaShaming is most dastardly act one can indulge into. Keep distance, be careful but don't lose empathy that primarily defines us as humans. My brother is a pilot, willingly self quarantined at home, while SHOWING NO SYMPTOMS for 13 days. Even if he would have been affected he would have got himself treated like any other dutiful staff. Until recently, when officials posted a label outside our Bhopal house which is important but it 'failed to mention that he's NOT COVID POSITIVE', I didn't know what trauma airline staff was going through. Several being made to leave their houses, many are being ill treated, their families are being stigmatised…just because THEY CHOSE TO SERVE YOU OVER THEIR LIFE! My father risks his life everyday to provide others medicines from his pharmacy. My brother dared to keep flying till last government directive so that several stranded passengers can return home. It's a risk so many brothers, sisters, fathers, mothers are taking every day providing us essential services, while their families can only pray for their well being. We conveniently traveled and we are still shopping for our medicines, grocery etc but when it comes to addressing these selfless workers, some of us choose to ostracise them! Least we can do is be respectful as neighbors and fellow citizens, let them live with dignity, if not thank them personally. #AviationCrewDeservesRespect #BeingQuarantinedIsNotBeingPositive #StopCoronaShaming #NotAllQuarantinedArePositive

A post shared by Divyanka Tripathi Dahiya (@divyankatripathidahiya) on

हम अपने राष्ट्र को कोरोना फ्री बनाने के लिए किए जा रहे प्रयासों की पूरी तरह से सराहना करते हैं। लेकिन अधिकारियों को यह याद रखना होगा कि हम भी समाज में रहने वाले सम्माननीय लोग हैं और दूसरों को आधी जानकारी के आधार पर कोई बात नहीं करना चाहिए |

दिव्यंका ने साझा किया, “हमने इन कठिन समय के दौरान काम करने वाले सभी डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मियों के लिए ताली बजाई है, लेकिन हम फ्लाइट क्रू के लिए तालियां क्यों नहीं बजाते हैं, जिन्होंने हमारे नागरिकों को दुनिया के विभिन्न हिस्सों से बचाया है। वे जोखिम को जानने के बाद भी हमे आवश्यक सेवाएं प्रदान करते रहे।

हम अपने भाई की यात्रा के बारे में चिंतित थे, इसी तरह हज़ारों परिवार जिनके बच्चे इस तरह की सेवाएँ दे रहे हैं परेशान होंगे| फिर भी उन्होंने अपना कर्तव्य निभाया। ”

Divyanka Tripathi Dahiya ने निश्चित रूप से एक वालिद पॉइंट हमारे सामने रखा है कि “हम इन कठिन समय के दौरान उड़ान क्रू की सराहना क्यों नहीं कर रहे हैं |”