Hostages Web Series Review: रोनित रॉय और टिस्का चोपड़ा ने दिखाया थ्रिलर का दम

मुंबई। वेब के इस दौर में इन दिनों क्राइम और थ्रिलर पर लोगों को काफ़ी ध्यान है और ऐसे में हॉटस्टार स्पेशल्स पर शुरू हुई लेटेस्ट सीरीज़ होस्टेज की काफ़ी चर्चा है। इसमें रोनित रॉय, टिस्का चोपड़ा, प्रवीण डब्बास और दलीप ताहिल ने अहम् भूमिका निभाई हैं।

ये क्राइम थ्रिलर इसी नाम के इज़राइली शो पर बना है। इसे सुधीर मिश्रा ने डायरेक्ट किया है। 10 एपिसोड के इस सीरीज़ में एक डॉक्टर के परिवार को होस्टेज बना लिया जाता है और उस पर एक मासूम शख्स को मारने का दवाब बनाया जाता है।पहले एपिसोड में अलग-अलग कैरेक्टर्स को इंट्रोड्यूस कराया जाता है।

सीरीज़ की कहानी ऐसी है कि एसपी पृथ्वी सिंह (रोनित रॉय) की ड्यूटी का अंतिम दिन है और वो एक आतंकवादी को पकड़ लेते हैं।इसके बाद डॉक्टर मीरा आनंद (टिस्का चोपड़ा) की एंट्री होती है। उन पर मुख्यमंत्री (दलीप ताहिल) का ऑपरेशन करने की ज़िम्मेदारी है। मीरा के पति (प्रवीण दबास ) स्कूल प्रिंसिपल हैं और उनका बेटा इसका बहुत फायदा उठाता है। वो पैसे के बदले पेपर लीक करता है। वहीं उनकी छोटी बेटी ये जानकर शॉक में है कि वो प्रेग्नेंट है।

मीरा के घर पर नज़र रखने के लिए एक शख्स (आशिम गुलाटी) इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर बन कर आ जाता है। डॉक्टर मीरा के केबिन से एक रहस्मयी शख्स निकलता हुआ भी दिखाई देता है। मीरा का परिवार शाम को साथ होता है, तभी कुछ लोग उन पर हमला कर देते हैं और मीरा को मुख्यमंत्री को मारने के लिए कहते हैं। इसके बाद दिखाया जाएगा कि पुलिस ऑफिसर कुछ समय पहले आतंकवादी को पकड़ रहा था, वो अब मुख्यमंत्री को मारना चाहता है।

रोनित रॉय और टिस्का चोपड़ा के अभिनय को लेकर कभी किसी को कोई संदेह नहीं रहा और यही कारण है कि इस सीरीज़ में भी उनका काम बेहतरीन दिखा है।

रोनित इसमें निगेटिव रोल में छा गए। वहीं टिस्का अपने परिवार और काम के बीच फंसी डॉक्टर के रोल में खूब जंची हैं। दिल्ली में बेस्ड ये सीरीज इतनी बढ़िया लिखी हुई है कि किसी भी मोड़ पर आपको बोरियत महसूस नहीं होती। इसकी एडिटिंग को भी खास मानना चाहिए कि एक भी सीन एक्स्ट्रा या गायब नहीं लगता। सस्पेंस सीक्वेंस अच्छे हैं।