Mahesh Bhatt की कानूनी टीम ने फिल्म निर्माता को NCW से नोटिस मिलने की बात से किया इनकार

Mahesh Bhatt

मुंबई | फिल्म निर्माता Mahesh Bhatt की कानूनी टीम ने कहा है कि फिल्म निर्माता को कथित ब्लैकमेल और यौन उत्पीड़न से जुड़े एक मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) से कोई नोटिस नहीं मिला है।

गुरुवार को, यह बात सामने आई थी कि एनसीडब्ल्यू ने महेश भट्ट के साथ ही अभिनेताओं उर्वशी रौतेला, ईशा गुप्ता, मौनी रॉय और टीवी व्यक्तित्व प्रिंस नरूला को कई महिलाओं मॉडलिंग के अवसर प्रदान करने के बहाने ब्लैकमेल और कई यौन उत्पीड़न के आरोपों से जुड़े मामले के खिलाफ अपने बयान दर्ज करने का नोटिस नोटिस जारी किए गए थे |

नोटिस उन मशहूर हस्तियों को भेजे गए थे जिन्होंने कथित रूप से आरोपी की कंपनी को बढ़ावा दिया और 6 अगस्त के लिए निर्धारित समय पर एनसीडब्ल्यू के समक्ष सुनवाई में शामिल होने में असमर्थ रहे |

अब हाल ही में भट्ट की कानूनी टीम ने स्पष्ट किया कि फिल्म निर्माता को एनसीडब्ल्यू से ऐसा कोई नोटिस,समन या मेल कुछ भी नहीं मिला है।

फिल्म निर्माता की ओर से NCW को भेजे गए एक पत्र में कानूनी टीम ने लिखा “हमारे क्लाइंट आपको सूचित करना चाहते हैं कि आपके ट्वीट में उल्लिखित ऐसा कोई नोटिस उन्हें NCW से नहीं मिला है। हम समझते हैं कि आपका नोटिस हमारे क्लाइंट की गवाह के रूप में उपस्थिति के लिए जारी किया गया है। हमारे क्लाइंट आपके ऑफिस के लिए आवश्यक सभी तरह सहयोग की पेशकश करने के लिए तैयार है और हमारे क्लाइंट यह भी बताना चाहेंगे कि ना तो वह आईएमजी वेंचर या उसके प्रमोटर के साथ जुड़े हैं और ना ही शिकायतकर्ता सुश्री योगिता भायना के साथ और ना ही आपके ट्वीट में उल्लेखित की गयी किसी भी घटना के साथ उनका किसी भी तरह का जुड़ाव है|”

आईएमजी वेंचर के प्रमोटर सनी वर्मा के खिलाफ शिकायत, पीपल अगेंस्ट रेप इन इंडिया (PARI) की संस्थापक योगिता भिया द्वारा दर्ज कराई गई थी। शिकायत के अनुसार, वर्मा कई महिलाओं को मॉडलिंग के अवसर देने के बहाने ब्लैकमेल और यौन शोषण करते रहे हैं |

2 अगस्त को महेश भट्ट की ओर से एक स्पष्टीकरण जारी किया गया था जिसमें कहा गया था कि फिल्म निर्माता आईएमजी वेंचर के साथ शामिल नहीं है।भट्ट के कानूनी वकील अमित नाइक ने कहा, “हमारे ग्राहक महेश भट्ट पर लगाए गए आरोप सही तथ्यों के सत्यापन के बिना लगाए गए हैं। हम उन सभी समाचार एजेंसियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर रहे हैं, जिन्होंने झूठे और अपमानजनक लेखों की रिपोर्ट की है।”

इस बीच सुशांत सिंह सुसाइड केस को लेकर और भाई भतीजावाद की बहस में भी फिल्म निर्माता Mahesh Bhatt के नाम को लेकर काफी चर्चा और ट्रोलिंग हो रही है |