गली बॉय वाले रणवीर भारत में ला रहे हैं रैप रेवलूशन !

ranveer singh

मुंबई।  रणवीर के साथ गली बॉय को बड़ी सफलता मिलने और इसके जरिए रैप / हिप-हॉप को लोकप्रिय बनाने के साथ, अब भारत में इस शैली को ब्रांडों और फिल्मों में नई फैशन के रूप में देखने को मिल रहा है।


बॉलीवुड के सुपरस्टार्स ने आने वाली पीढ़ियों के लिए सामाजिक फैशन को संचालित करते हुए एक बड़ा ट्रेंड बनाया है। रणवीर सिंह के देश के भौगोलिक और क्षेत्रीय रूप से फैले स्टारडम ने रैप / हिप हॉप संगीत को देश की सड़कों से एक मुकाम पर लाकर इसे व्यापक रूप से मुख्यधारा से जोड़ा है। 


गली बॉय के साथ, पहले उन्होंने कॅरियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया और फिल्म के ब्लॉकबस्टर रही। उन्होंने देश भर के युवा कलाकारों की खोज, शिक्षा और बढ़ावा देने के उद्देश्य से, एक स्वतंत्र रिकॉर्ड लेबल इंकइंक की भी शुरूआत की। काम भारी, स्लो चीता और स्पिटफायर उनकी पहली 3 प्रतिभाएं और प्रतिभाशाली हिप हॉप कलाकार हैं। यही कारण है कि कभी बेहद छोटी मानी जाने वाली यह रैप / हिप-हॉप शैली, अब काफी हद तक व्यावसायिक हो गई है।


राजनीतिक दलों से लेकर ब्रांड तक, यहां तक कि फिल्मों में भी विचारों और विचारधाराओं को बढ़ावा देने के लिए रैप / हिप-हॉप का उपयोग किया जा रहा है। 


लोकसभा चुनावों के दौरान बीजेपी के अभियान को कौन भूल सकता है, जिसमें भाजपा  को गली बॉय के गाने आजादी के साथ कांग्रेस के खिलाफ चुनाव प्रचार करते देखा गया था। इसने इंटरनेट पर तहलका मचा दिया था। इतना ही नहीं फेस वॉश के ब्रांडों में से एक (हिमालया मेन्स फेस वॉश), फुटवियर (रिलैक्सो फ्लाइट) से लेकर सबका डेंटिस्ट जैसी पहल आदि ने लोगों के मन मस्तिष्क में खुद को स्थापित करने के लिए लंबे सयम से रैप का इस्तेमाल किया है।

हालिया फिल्में आर्टिकल 15 और खानदानी शफखाना आदि ने भी प्रमोट करने के लिए इस शैली का उपयोग किया है। वर्तमान में, एक युवा टीवी चैनल (एमटीवी) ने भारत में रैपर्स की तलाश के लिए हसल नामक एक शो की शुरूआत की है। इतना ही नहीं हमें उन सैकड़ों और हजारों कंटेंट क्रिएटर्स को भी नहीं भूलना चाहिए, जिन्होंने अपनी संगीत और प्रतिभा की ओर लोगों का ध्यान आकृष्ट करने के लिए यू-ट्यूब, फेसबुक, टिक टॉक पर अपने रैप / हिप-हॉप गाने अपलोड किए हैं। 


भारत में इस रैप रेवलूशन के बारे में हमने रणवीर से बात की तो उन्होंने कहा, “हिंदुस्तानी रैप / हिप हॉप का समय आ गया है और यह भारत के संगीत परिदृश्य में एक निहायत ही जरूरी धमाका है। यह भारत में मूल संगीत के लिए रोमांचक समय है और रैप / हिप-हॉप ताजगी प्रदान करने का एक बड़ा जरिया है। हिंदुस्तानी रैप / हिप हॉप अब एक गुप्त संगीत नहीं है, बल्कि यह युवाओं की भाषा बन गई है और भारतीय संस्कृति में होने वाली सबसे बड़ी बात है।”


रणवीर आगे कहते हैं, “भारत ने हमेशा से ही काफी शानदार और ओरिजनल कंटेंट तैयार की है और यह समय रैप / हिप हॉप और उन अविश्वसनीय कलाकारों का है, जिनकी कविता क्रांति की बात कर रही है। वे हमारी पीढ़ी के कवि हैं और युवा उन्हें सुन रहे हैं। रणवीर के मुताबिक अब हिंदुस्तानी रैप / हिप हॉप यहां आ चुका है और यह भारत की आवाज है जिसे आप नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं।” 


रणवीर का कहना है कि वे देश और फिल्म उद्योग का एक विचारवान नेता बनना पसंद करेंगे। वे कहते हैं, “मुझे फिल्में और इंडस्ट्री पसंद है। वे इंडस्ट्री लीडर के साथ ही इंडस्ट्री का चैंपियन भी बनना चाहेंगे। रणवीर के मुताबिक मैं चाहता हूं कि हिंदी सिनेमा और हिंदी फिल्म व्यवसाय बढ़ता रहे और दिन प्रतिदिन बड़ा होता जाए। इसलिए, अगर मैं इस उद्योग और हिंदी सिनेमा को बड़ा और बेहतर बनाने के लिए कोई योगदान दे सकूं, तो यह मेरे लिए काफी सम्मान की बात होगी।”