Siddharth Roy Kapur ,विलियम डेलरिम्पल की “द एनार्की : द रिलेंटलेस राइज़ ऑफ़ द ईस्ट इंडिया कंपनी” पर बनायेंगे सीरीज

Siddharth Roy Kapur

मुंबई | Siddharth Roy Kapur ,विलियम डेलरिम्पल कि बेस्टसेलर, ‘द एनार्की: द रिलेंटलेस राइज़ ऑफ़ द ईस्ट इंडिया कंपनी’ पर सीरीज बनाने वाले हैं | उनके प्रोडक्शन ‘रॉय कपूर फिल्म्स ‘ ने हाल ही में अवार्ड विनिंग इतिहासकार और लेखक विलियम डेलरिम्पल की बेस्ट सेलिंग हिस्टोरिकल बुक ‘द अनार्की:द रिलेंटलेस राइज़ ऑफ़ द ईस्ट इंडिया कंपनी’ के आधिकारिक राइट्स हासिल कर इसे सीरीज़ के रूप में बदलने की योजना बनाई है।

‘ द एनार्की ‘ को अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने 2019 में उनके द्वारा अनुशंसित टॉप टेन बुक की लिस्ट में शामिल किया था।1599 से लेकर 1802 तक की अवधि को शामिल कर ‘द अनार्की’ ने मुग़ल साम्राज्य के पतन के खिलाफ द ईस्ट इंडिया कंपनी के अथक उदय का उल्लेख किया है | इसमें बताया गया है कि किस तरह लंदन के अनिर्वाचिन पांच खिड़कियों वाली ईमारत से तीस लोगों ने मिलकर इस प्रादेशिक व्यवसाय की शुरुआत की और पूरे उप-महाद्वीप के शासक बन गए साथ ही साथ दुनिया के इतिहास में सबसे अमीर और सबसे शक्तिशाली साम्राज्य की स्थापना भी की |

‘द अनार्की ‘ के रिलीज़ होने के बाद इंटरनेशनल समीक्षकों ने इसे शानदार रिव्यू दिए थे , ‘द टेलीग्राफ ने ‘द ईस्ट इंडिया कंपनी के इतिहास को ‘ एक टूर-डे-फोर्स कहा था , जबकि गार्डियन ने अपने आर्टिकल में बताया था कि यह पुस्तक ना केवल उनके पाठकों को ब्रिटिश और दक्षिण एशिया के महत्वपूर्ण इतिहास और उपेक्षित अवधि में वापस ले गयी है बल्कि उनकी यात्रा को जानकारीपूर्ण और मनोरंजक तरीके से भी वर्णित किया है जैसे किसी महल में एक शाम , कविता और संगीत का आयोजन कर दिया गया हो | द न्यूयॉर्क टाइम्स का मानना है कि यह बुक एक उदहारण है की जब एक कॉर्पोरेट लीडर की शालीनता में कमी होती है तो चीज़ गलत हो सकती हैं या बहुत ज़्यादा गलत हो सकती है।’

सिद्धार्थ रॉय कपूर , लेखकों की एक अंतरराष्ट्रीय टीम को एक साथ लाना चाहते हैं जो इसे बेहतरीन और उच्चतम स्तर पर निर्मित कर सके | उन्होंने इस बारे में बात करते हुए कहा कि “जो कहानियाँ सम्मोहक, प्रासंगिक और प्रामाणिक होती हैं, उनमें सभी राष्ट्रीयताओं और संस्कृतियों के दर्शकों को प्रतिध्वनित करने की क्षमता होती है और विलियम डेलरिम्पल की द एनार्की ऐसी ही कहानियों में से एक है।”

“जबकि आज दुनिया भर में इस बात पर बहस छिड़ी हुई है कि बड़ी बड़ी कंपनियां और शक्तिशाली व्यक्ति मन और राष्ट्र पर नियंत्रण रखना चाहते हैं,वैश्विक दर्शकों के लिए इससे अधिक प्रासंगिक क्या हो सकता है कि वे एक सच्ची कहानी देखेंगे कि कैसे एक छोटी सी ट्रेडिंग कंपनी ने सम्पूर्ण उपमहाद्वीप को नियंत्रण में कर लिया था। हमें खुशी है कि हम विलियम के साथ मिलकर इन अविश्वस्नीय पात्रों की आकर्षक झांकी को जीवंत करेंगे जहां, पर सभी ने सबसे अमीर उपमहाद्वीप पर प्रभुत्व जमाने के लिए एक दूसरे का साथ निभाया है।”

लेखक विलियम डेलरिम्पल भी इस प्रोजेक्ट से एक सलाहकार के रूप मे जुड़ने जा रहे हैं और सिद्धार्थ के साथ काम करने जा रहे है |उनका इस बारे में कहना है ” मुझे लगता है कि ‘द एनार्की ‘ सबसे उचित किताब होगी एक सिरीज़ के रूप में रूपांतरित करने के लिए और भारत में इसे Siddharth Roy Kapur से बेहतर कोई और बना ही नहीं सकता।जिस तरह से इसके शुरूआती नोट को तैयार किया गया है उसे देखकर मैं बेहद उत्साहित हूँ ,जहां इस किताब को पुनर्जीवित करने की बात बताई गई है। इये बेहद अतुलनीय और रोमांचित कर देने वाला पल है और मुझे इस प्रोजेक्ट से काफी उम्मीदें हैं।”