चित्रांगदा सिंह (Chitrangada Singh)ने कहा, COVID-19 के बीच मानसिक रूप से मजबूत रहना ज़रूरी है

chitrangada singh on corona

ऐसा लग रहा है बॉलीवुड की प्रतिभाशाली अभिनेत्री चित्रांगदा सिंह(Chitrangada Singh) रोज़ की दिनचर्या, सेट पर जाने और कैमरा फेस करने को काफी याद कर रही है।

इस बारे में बात करते हुए चित्रांगदा सिंह(Chitrangada Singh) ने कहा, “मुझे लगता है हम सब अपने क्रिएटिव और प्रोडक्टिव काम को याद कर रहे हैं। मैं बॉब बिस्वास को ख़त्म करके दूसरी स्क्रिप्ट पर काम करने की तैयारी में थी, लेकिन जैसे किस्मत ने चाहा, स्क्रिप्ट पर अभी भी काम चल रहा है और उसे और ज़्यादा अच्छा बनाया जा रहा है। “

अपने इन क्वारंटाइन दिनों में ख़ूबसूरत अभिनेत्री ज़्यादा से ज़्यादा समय टिक-टॉक पर वीडियों बनाकर डाल रही है। एक तरफ जहां Chitrangada Singh को इस समय में वीडियों को बनाना अच्छा लग रहा है तो वही दूसरी तरफ उन्हें ये भी लगता है कि यह ज़रूरी नही इस लॉकडाउन के समय में हर कोई कुछ प्रोडक्टिव कर पाए। उनका मानना है कि किसी झुंड को फॉलो करने की बजाय वो करो जो तुम करना चाहते हो।

चित्रांगदा ने कहा, “प्रोडक्टिव होना अच्छा और महत्वपूर्ण है, लेकिन मुझे नही लगता उसके लिए हमें अपने ऊपर किसी भी तरह का दबाव डालना चाहिए। हमें वक़्त के साथ चलना चाहिए क्योंकि इस वक़्त हमारे नियंत्रण में कुछ भी नही है। मुझे अपने निश्चित समय पर उठकर अपना काम करना पसंद है, लेकिन उससे अधिक मुझे कुछ और करने का मन नहीं करता। मुझे नही लगता ये बुरी चीज़ है।

चित्रांगदा का मानना है कि मानवीय होना और देश के एक अच्छे नागरिक की तरह देश के प्रति अपने कर्तव्यों को निभाना बहुत ही ज़्यादा महत्वपूर्ण है। चित्रांगदा ने कहा, “इस तरह के समय में कितनी भी मदद करों वो काफी नही होती। जैसा कि हम सब करते हैं। मैं भी अपने दोस्त की मदद कर रही हूं, जोकि जरुरतमंदो तक खाना पहुंचाता है। मुझे लगता है इन सबसे हम एक उदाहरण सेट कर सकते हैं और लोगो को प्रभावित कर सकते हैं ताकि वह उन लोगो तक खाना पहुचाएं जिनके पास छत नही है और खाना खरीदने के पैसे नहीं हैं।”

आगे खुलासा करते हुए अभिनेत्री ने बताया कि शुरूआती दिनों में दुनियाभर में कोविड-19(COVID-19 ) के हालातों को सुनकर कैसे उन्होंने अपनी बैचेनी (एनज़ाइटी )से डील किया।”पॉज़िटिव केसेस और डेथ के नम्बर्स देखने के बाद मैं काफी बैचेन हो गई थी। इन नम्बरों में लगातार वृद्धि हो रही है और संख्या दोगुनी हो रही है। इससे लोगो की ज़िन्दगी ख़त्म होगी और धन की हानि होगी। जिससे कि हमारी अर्थव्यवस्था लड़खड़ा जाएगी। लेकिन मुझे लगता है अगर हम निर्देशों का पालन करें और खुद को मानसिक तौर पर स्ट्रांग बनाकर रखें तो हम इस पर काबू पा सकते हैं।” इस अभिनेत्री ने लोगो को सकारात्मक रहने के लिए प्रेरित किया।