(Seerat) सीरत कपूर को देख कर चौक जायेंगे आप

Seerat kapoor new look

सीरत (Seerat) कपूर में आया परिवर्तन आपको यक़ीनन फिटनेस लक्ष्य देगा। एक फिट बॉडी पाना हर किसी का सपना होता है। लेकिन इसके पीछे बहुत सारी मेहनत और त्याग होता है। अगर बात हमारे मनोरंजन जगत की हो , तो शरीर का एकदम फिट होना जरुरत बन जाती है। हमारे बॉलीबुड और टेलीविज़न जगत के सितारे खुद को फिट रखने के लिए काफी मेहनत और पसीना बहाते है। साथ में पसंदीदा खाने का भी बलिदान देते है और एक सही डाइड को फॉलो करते है। कई सारे अभिनेता और अभिनेत्री जैसे आलिया भट्ट , अर्जुन कपूर ,करीना कपूर ने खुद को कैमरा फ्रेंडली बनाने के लिए बड़ी मेहनत की है।

टॉलीवूड अभिनेत्री सीरत कपूर (Seerat)ने भी भी अपने शरीर को तलाशने के लिए लंबा सफर तय किया है। अभिनेत्री ने सही और संतुलित दिनचर्या का पालन करते हुए खुद को फिट बनाया है। जिसमे अनुशासन के साथ पिलाटे ,हैल्दी भोजन , सही मात्रा में जल और पूरी नींद शामिल है। सीरत कपूर ने अपने चेहरे के ग्लो को खोये बिना एक खूबसूरत शरीर पाया है।

Seerat kapoor
Seerat kapoor

कोविद -19 महामारी के कारण अभिनेत्री घर पर काम कर रही है और अपनी फिटनेस को बनाए रखना सुनिश्चित कर रही है। सीरत (Seerat)लॉकडाउन के दौरान अपने परिवार के साथ रहते हुए कुछ क्वालिटी टाइम बिता रही हैं।

सीरत (Seerat)ने फैट से फिट होने तक की अपनी यात्रा के बारे में विस्तार से बात करते हुए कहा, “मेरा फिटनेस मंत्र एक निश्चित मात्रा में पिलाटे के साथ संतुलित पोषण तत्वों से भरा भोजन है। मैं EMS के साथ भी प्रशिक्षण ले रही हूं जो सप्ताह में दो बार 20 मिनट का कसरत सेशन होता है। ऐसा माना जाता है कि EMS का 20 मिनट का एक सेशन ,लगभग 3 स्टेंथ ट्रेंनिंग सेशन के बराबर है। “
“मैं अपनी फिटनेस यात्रा के लिए ट्रेनर समीर पुरोहित और पोषण विशेषज्ञ अंजलि पेसवानी श्रेय देना चाहूँगी , जो मेरे साथ किसी सेना की तरह हर पड़ाव में साथ खड़े रहे है।”
लॉकडाउन से पहले समीर ने मुझे अपने शरीर के प्रकार के अनुसार सभी महत्वपूर्ण अभ्यासों का एक गाइड भेजा था , जिसके कारण में घर में रहते हुए भी सही तरीके से पुरे प्रयासों के साथ गाइड लाइन का पालन करते हुए अपने आप को फिट करने में सक्षम हुई हूँ। मैं नम्रता पुरोहित के साथ उनके वीडियो और डिजिटल वर्कआउट कक्षाओं में भाग लेती रही हूं।
इसके अलावा, घर की सफाई भी कार्यात्मक प्रशिक्षण का एक बड़ा स्रोत बना । ”